पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से सटे हावड़ा में शनिवार को सुबह एक हिंसा भड़क उठी, यहां आंदोलनकारियों ने पैगंबर मुहम्मद पर भाजपा की निलंबित नेता नुपुर शर्मा की विवादास्पद टिप्पणी को लेकर प्रदर्शन किया। बता दें कि पैगंबर मोहम्मद विवाद को लेक बंगाल के हावड़ा समेत कुछ हिस्सों में हिंसक विरोध प्रदर्शन पिछले तीन दिनों से लगातार देखने को मिल रहा है।

भीड़ को रोकने के लिए पुलिस को करना पड़ा लाठीचार्ज
हावड़ा जिले के अल्पसंख्यक पांचाल इलाके में शनिवार सुबह प्रदर्शनकारियों द्वारा वहां एक स्थानीय क्लब पर हमला करने और तोड़फोड़ करने के बाद तनाव फैल गया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने का प्रयास किया, तो उन्होंने पुलिस पर पथराव कर दिया। भीड़ को रोकने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले भी दागने पड़े। अल्पसंख्यक दोमजुर इलाके में भी तनाव व्याप्त है जहां शुक्रवार देर शाम थाने पर हमला किया गया था। इस घटना में कुछ पुलिस वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया और करीब 12 पुलिसकर्मी घायल हो गए।

13 जून को सुबह 6 बजे तक राज्य में इंटरनेट सेवाएं बंद
राज्य में पैगंबर विवाद को लेकर हिंसा का केंद्र बन चुके हावड़ा में हिंसा के प्रसार को रोकने के लिए राज्य सरकार ने कुछ कदम उठाए हैं। अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए 13 जून को सुबह 6 बजे तक हावड़ा ग्रामीण जिला पुलिस और हावड़ा पुलिस कमिश्नरेट के अधिकार क्षेत्र में पूरे जिले में इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है। राज्य के विभिन्न इलाकों जैसे पांचाल और जगतबल्लवपुर इलाकों में भी 15 जून की सुबह छह बजे तक धारा 144 लागू कर दी गई है।

भाजपा का गुनाह लोगों को क्यों भुगतना चाहिए?: ममता बनर्जी
इस बीच राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र में सत्तारूढ़ दल भाजपा पर तनाव भड़काने का आरोप लगया है। पश्चिम बंगाल सरकार ने कड़ा संदेश देते हुए इसके लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है। ममता ने अपने ट्विटर अकाउंट से बांग्ला में किए गए ट्वीट में ममता ने लिखा- जैसा कि मैं पहले भी कह चुकी हूं कि हावड़ा में पिछले दो दिनों से हिंसक घटनाएं हो रही हैं। इसके पीछे कुछ राजनीतिक दल हैं और वे दंगे कराना चाहते हैं। लेकिन इन्हें बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन सभी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। भाजपा का गुनाह लोगों को क्यों भुगतना चाहिए?

दिलीप घोष ने मानसाताला में पार्टी कार्यालय में की तोड़फोड़
इस बीच, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पार्टी सांसद दिलीप घोष शनिवार की सुबह करीब 11.30 बजे हावड़ा के मानसताला में एक पार्टी कार्यालय में तोड़फोड़ करने पहुंचे। ”सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाहें फैलाकर मीडिया में जानबूझकर तनाव पैदा किया गया। इस बीच, हावड़ा जिले के कई वरिष्ठ भाजपा नेताओं को पुलिस ने तनावग्रस्त इलाकों में जाने से रोक दिया। पश्चिम बंगाल में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और पार्टी सांसद सुकांत मजूमदार को कोलकाता के उत्तरी बाहरी इलाके न्यू टाउन में उनके आवास पर रोका गया।

आपको बता दें कि खासकर बंगाल के हावड़ा में नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग को लेकर एक समुदाय की ओर से हिंसक विरोध प्रदर्शन जारी है। हावड़ा में हिंसक प्रदर्शन के सिलसिले में पुलिस ने अब तक 70 लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, प्रशासन ने 15 जून 2022 तक हावड़ा के हिंसा ग्रस्त इलाके में धारा 144 लगा दिया गया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *