संघ लोक सेवा आयोग ( UPSC) ने 30 मई को रिजल्ट जारी किया था। जिसे देखकर उत्तर प्रदेश के रहने वाले उत्तम भारद्वाज खुशी से झूम उठे। दरअसल, 121 वीं रैंक पर अपना नाम देख कर उन्हें लगा की वो अब IAS बन गए हैं। पूरे परिवार मे खुशी का आलम छा गया। हर जगह उन्होंने मिठाईयां बांटनी शुरू कर दी। लेकिन जब उन्हें सच का पता चला तब पूरा परिवार दांतो तले अंगुली दबाता रह गया।

रोल नंबर के आखिरी अंक की चूक ने धो दिए सारे अरमान
यह गलतफहमी जल्दबाज़ी की वजह से हुई थी। यह पूरी गलती रोल नंबर के आखिरी नंबर पर ध्यान ना देने की वजह से हुई है और सबसे अश्चर्यचकित बात यह है की जिसका वो रोल नंबर था उसका नाम भी उत्तम ही था जिसकी वजह से यह सारी गलतफहमी पैदा हुई। उत्तर प्रदेश के उत्तम ने अपनी डायरी में गलत रोल नंबर लिखा था जिसे वेबसाइट पर डालने के बाद उन्होंने समझा कि उन्हें सफलता हासिल हो गई है।

सोनीपत (हरियाणा) की लड़की उत्तम को मिली 121वीं रैंक
दरअसल, UPSC में सोनीपत (हरियाणा) की लड़की उत्तम की 121वी रैंक आई है। कल मुरादाबाद (UP) के उत्तम भारद्वाज ने यह रैंक खुद की बताकर मिठाई बांट दी और मीडिया में इंटरव्यू भी छपवा दिया। आज उत्तम को पता चला कि उसका सलेक्शन नहीं हुआ। जिसके बाद अब वह बीमार हैं और कमरे में बंद हैं। इसके बाद उत्तम ने पत्र लिखकर सभी से माफी मांगी है।

पत्र लिखकर मांगी माफी
उत्तम भारद्वाज ने माफी मांगते हुए लिखा “मैं उत्तम, अपने दिल की गहराइयों के साथ बता रहा हूं कि मुझे दुख है कि मेरी दस्तावेज डायरी में रोल नंबर को नोट करते समय मेरी गलती के चलते UPSC CSE 2021 में मेरे चयन होने की गलत सूचना फैल गई थी। कृपया मुझे इस गलती के लिए माफ करें “।

बता दें कि ऐसी गलती करने का बाद उत्तर प्रदेश के उत्तम को काफी गहरा सदमा लगा जिसकी वजह से उसे अस्पताल मे भर्ती कराया गया। साथ ही साथ बता दें की इस बार की UPSC परीक्षा मे लड़कियों ने बाज़ी मारी है। श्रुति शर्मा को पहली रैंक हासिल हुई है वहीं अंकिता अग्रवाल को दूसरी और गामिनि सिंगला को तीसरी रैंक हासिल हुई है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *