उत्तर प्रदेश के DGP मुकुल गोयल (Mukul Goel) पर योगी सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। उन्हें पद से हटा दिया गया है। बताया गया कि पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल पर यह कार्रवाई शासकीय कार्यों की अवहेलना करने, विभागीय कार्यों में रुचि न लेने के चलते हुई है। उन्हें DGP पद से मुक्त करते हुए डीजी नागरिक सुरक्षा के पद पर भेज दिया गया है।

मुकुल गोयल 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी
आपको बता दें कि मुकुल गोयल 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं। उन्होंने आईआईटी दिल्ली से बीटेक किया और उसके बाद एमबीए किया। वे आजमगढ़ के एसपी और वाराणसी, गोरखपुर, सहारनपुर और मेरठ में एसएसपी के तौर पर भी तैनात रह चुके हैं। सहारनपुर में एसएसपी के तौर पर तैनात रहने के दौरान उन्हें एक बार सस्पेंड भी किया गया था। उन पर ये कार्रवाई बीजेपी विधायक निर्भय पाल सिंह की हत्या के बाद की गई थी।

साल 2000 में मुकुल गोयल को SSP पद से किया था सस्पेंड
आपको बता दें कि ऐसा पहली नहीं हुआ है कि उनका नाम किसी विवाद में सामने आया है और उन्हें पद से हटाया गया हो। इससे पहले भी मुकुल गोयल काफी विवादों में भी रह चुके हैं। साल 2000 में मुकुल गोयल को उस समय SSP के पद से सस्पेंड कर दिया गया था। जब पूर्व बीजेपी विधायक निर्भय पाल शर्मा की हत्या हो गई थी। वहीं मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो साल 2006 के कथित पुलिस भर्ती घोटाले में कुल 25 IPS अधिकारियों का नाम सामने आए थे। जिसमें मुकुल गोयल का नाम भी शामिल था।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *