पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर 1 मई से टोल टैक्स की शुरुआत हो गई है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की तरह ही पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर भी टोल टैक्स में 25 प्रतिशत छूट रहेगी। लखनऊ से गाजीपुर तक दो मुख्य टोल प्लाजा समेत कुल 13 टोल प्लाजा होंगे। एक्सप्रेसवे पर बीच के एंट्री/एग्जिट प्वाइंट पर 11 छोटे टोल प्लाजा होंगे।

6 एंबुलेंस और 12 पेट्रोलिंग वाहन भी होंगे मौजूद
चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर अवनीश कुमार अवस्थी के मुताबिक, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर टोल प्लाजा के संचालन, टोल कलेक्शन के लिए चयनित एजेंसी को मंत्री परिषद की ओर से अप्रूवल मिल चुका है। उन्होंने बताया कि टोल प्लाजा पर अलग-अलग जगहों पर आवश्यक कर्मियों सहित 6 एंबुलेंस और 12 पेट्रोलिंग वाहन भी होंगे। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार टोल वसूली से राजस्व मिलने के साथ-साथ वाहनों एवं यात्रियों की सुरक्षा भी सुनिश्चित करेगी। इसके अलावा ज़रूरत पड़ने पर उन्हें तुरंत चिकित्सा सुविधा भी मिलेगी।

गाड़ियों से वसूला जाने वाला टोल टैक्स (रुपए में)
पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर लखनऊ से गाजीपुर तक अलग-अलग गाड़ियों के लिए साल 2022-23 के लिए टोल दरें (25 प्रतिशत की छूट के साथ) निर्धारित की गयी हैं। चलिए जानते हैं कि किस वाहने को कितने रूपए चुकाने होंगे?
1. कार, जीप, वैन या हल्के मोटर वाहन के लिए 675 रुपये
2. हल्के व्यवसायिक वाहन, हल्के माल वाहन या मिनी बसों के लिए 1065 रुपये
3 बस या ट्रक के लिए 2145 रुपये
4. 7 या अधिक पहिये वाले वाहनों के लिए 4185 रुपये

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से जुड़े हैं उत्तर प्रदेश के 9 जिलें
पूर्वांचल एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश के 9 जिलों लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, अयोध्या, अंबेडकर नगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर को जोड़ेगा। जुलाई 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की बुनियाद रखी थी।

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से जुड़ी जानकारी
341 किलोमीटर लंबा ये प्रदेश का सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे है। यह लखनऊ के चांदसराय से शुरू होकर गाजीपुर के हैदरिया गांव में खत्‍म होगा। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के बन जाने के बाद राष्ट्रीय दिल्ली और लखनऊ से पूर्वी उत्तर प्रदेश सीधे जुड़ जाएगा, जिससे पूर्वांचल के लोगों के साथ-साथ बिहार के लोगों को भी सफर करने में काफी सुविधा होगी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *