प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  (PM Narendra Modi) ने इंदौर में बने एशिया के सबसे बड़े गोबर धन प्लांट का शनिवार को वर्चुअली लोकार्पण किया। इस गोबर धन प्लांट से इंदौर शहर के ठोस अवशिष्ट पदार्थ को बायो गैस में बदला जाएगा जिससे ऊर्जा की प्राप्ति होगी। 150 करोड़ की लागत से बना यह प्लांट प्रतिदिन 550 मीट्रिक टन गीले कचरे का निपटान करेगा। यह प्लांट एशिया का सबसे बड़ा बायो सीएनजी प्लांट है। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि इंदौर समय के साथ बदला है।

ये भी पढ़ें: Chhatrapati Shivaji Jayanti 2022 : छत्रपति शिवाजी महाराज की 392वीं जयंती कल, पीएम मोदी ने भारत की पहचान और संस्कृति के रक्षक को किया प्रणाम

पीएम मोदी ने देवी अहिल्या को याद करते हुए कहा कि देवी अहिल्या जी की प्रेरणा को इंदौर ने कभी भी खोने नहीं दिया। देवी अहिल्या जी के साथ ही इंदौर का नाम आते ही आज मन में स्वच्छता आती है। इंदौर का नाम आते ही नागरिक कर्तव्य मन में आता है। जितने अच्छे इंदौर के लोग होते हैं, उतना ही अच्छा उन्होंने अपने शहर को बना दिया है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि अपने शहरों को प्रदूषण मुक्त रखने और गीले कचरे के निस्तारण के लिए आज की यह कोशिश बहुत महत्वपूर्ण है। शहर में घरों से निकला गीला कचरा, गांवों में पशुओं, खेतों से मिला कचरा हो, यह सब एक तरह से गोबर धन ही है। शहर के कचरे और पशुओं से गोबरधन और गोबरधन से स्वच्छ ईंधन। इंदौर का यह गोबरधन प्लांट दूसरे शहरों को प्रेरणा देगा। दो वर्षों में 75 बड़े नगर निकायों में इस प्रकार के बायो सीएनजी प्लांट बनाने का काम किया जा रहा है। यह अभियान भारत के शहरों को स्वच्छ बनाने, प्रदूषण रहित बनाने, क्लीन एनर्जी की दिशा में बहुत मदद करेगा।

ये भी पढ़ें: Ravidas Jayanti 2022: संत रविदास ने समाज से जात-पात और छुआछूत जैसी कुप्रथाओं को खत्म किया, वह हमारे लिए प्रेरणादायी हैं: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने इस दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan)  की तारीफ की। उन्होंने कहा कि, शिवराज और उनकी टीम के सदस्यों की तारीफ करना चाहूंगा, जो उन्होंने कम समय में इसे संभव बनाया। सुमित्रा ताई का भी आभार व्यक्त करना चाहूंगा, जिन्होंने इंदौर की पहचान को नई ऊंचाई को पहुंचाया। शंकर लालवानी भी उनके नक्शे-कदम पर इंदौर को आगे बढ़ाने, बेहतर बनाने के लिए काम कर रहे हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *