जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे (Shinzo Abe) को आज सुबह नारा क्षेत्र में हुए हमले के दौरान दुनियाभर के नेता दुख व्यक्त कर रहे हैं। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शिंजो आबे पर हुए हमले को लेकर दुख व्यक्त किया है।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने जापान के पूर्व प्रधान मंत्री शिंजो आबे के परिवार और जापान के लोगों के लिए अपने विचार और प्रार्थनाएं व्यक्त करते हुए कहा ” मेरे प्रिय मित्र शिंजो पर हुए हमले से बहुत व्यथित हूं। हमारे विचार और प्रार्थनाएं उनके, उनके परिवार और जापान के लोगों के साथ हैं। ”

जापान के मौजूदा प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा प्रेस को बताया यह बर्बर और दुर्भावनापूर्ण है और इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। हम वो सब कुछ करेंगे जो हम कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि फिलहाल शिंजो आबे की हालत नाजुक है और इस समय, डॉक्टर शिंजो आबे को बचाने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं। किशिदा ने कहा कि मैं प्रार्थना करता हूं पूर्व पीएम की जान बच जाए।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी शिंजो आबे पर हुए हमले की निंदा की। वह बोले कि शिंजो आबे पर हुए हमले के बारे में सुनकर स्तब्ध हूं। उन्होंने भारत-जापान रिश्तों को मजबूत किया था। उनके जल्द ठीक होने की कामना करता हूं।

शिंजो आबे पर हमले के बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि मेरे प्यारे दोस्त पर हुए हमले की बात सुनकर मैं दुखी हूं।

वहीं वाइट हाउस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा गया कि जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के खिलाफ हिंसक हमले के बारे में सुनकर हम स्तब्ध और दुखी हैं। हम रिपोर्ट की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। हमारे विचार उनके परिवार और जापान के लोगों के साथ हैं।

गौरतलब है कि जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे को आज सुबह नारा क्षेत्र में संसदीय चुनाव के लिए प्रचार करते हुए गोली मार दी गई। दो गोलियों की आवाज सुनते ही वह गिर पड़े और खून बहने लगा। इसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। एलडीपी अधिकारियों के मुताबिक, उनके सीने में गोली लगी थी और उसके बाद ही उन्हे हार्ट अटैक भी आ गया था। फिलहाल उनकी हालत गंभीर बनी हुई है, और डॉक्टर आबे को बचाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। वहीं हमलावर का नाम Yamagami Tetsuya है। वह सेल्फ डिफेंस फोर्स का सदस्य बताया जा रहा है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *