प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज हैदराबाद दौरे पर हैं। पीएम मोदी ने आज हैदराबाद में 216 फीट ऊंची ‘Statue Of Equality’ की मूर्ति का लोकार्पण किया है। यू मूर्ति स्टैच्यू ऑफ इक्वालिटी 11वीं सदी के भक्ति संत श्री रामानुजाचार्य की याद में बनाई गई है, उनके जन्म के एक हजार वर्ष पूरे हो चुके हैं, ऐसे में पीएम मोदी द्वारा वैष्णव संत को ये बड़ा सम्मान दिया जा रहा है। रामानुजाचार्य ने आस्था, जाति और पंथ सहित जीवन के सभी पहलुओं में समानता के विचार को बढ़ावा दिया।

प्रधानमंत्री मोदी अपने संबोधन में कहा कि जगद्गुरु श्री रामानुजाचार्य जी की इस भव्य विशाल मूर्ति के जरिए भारत मानवीय ऊर्जा और प्रेरणाओं को मूर्त रूप दे रहा है। रामानुजाचार्य जी की ये प्रतिमा उनके ज्ञान, वैराग्य और आदर्शों की प्रतीक है।

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने इस बात का भी जिक्र किया कि आज रामानुजाचार्य जी विशाल मूर्ति Statue of Equality के रूप में हमें समानता का संदेश दे रही है। इसी संदेश को लेकर आज देश ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, और सबका प्रयास’ के मंत्र के साथ अपने नए भविष्य की नींव रख रहा है

भाषण के दौरान वो पल भी आया जब मोदी ने विस्तार से देश की आजादी और उसमें राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जिक्र किया। उन्होंने जोर देकर कहा कि किसी भी आजादी की परिकल्पना बिना महात्मा गांधी के नहीं की जा सकती है।

आपको बता दें कि यह प्रतिमा ‘पंचधातु’ से बनी है, जिसमें सोना, चांदी, तांबा, पीतल और जस्ता का एक संयोजन है और यह दुनिया में बैठी अवस्था में सबसे ऊंची धातु की प्रतिमाओं में से एक है। ‘स्टैच्यू ऑफ इक्‍वालिटी’ मेगा प्रोजेक्ट पर 1000 करोड़ रुपये की लागत आई है। प्रतिमा बनाने में 1800 टन से अधिक पंच लोह का उपयोग किया गया है। पार्क के चारों ओर 108 दिव्यदेशम या मंदिर बनाए गए हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *