गुजरात में विधानसभा चुनाव से पहले नरेंद्र मोदी स्टेडियम मामले पर सिसायत शुरू हो गई है। पाटीदार समुदाय ने इस स्टेडियम का नाम बदलने की मांग को लेकर बड़ा आंदोलन करने का ऐलान किया है। पाटीदार समुदाय एक बार फिर से इस स्टेडियम का नाम बदलकर देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल के नाम करने की मांग कर रहा है।

खास बात यह है कि इस मांग का समर्थन उस समूह ने भी किया है, जिसने 2015 में हार्दिक पटेल के नेतृत्व में पाटीदार आरक्षण की मांग की थी और पूरे गुजरात में बड़े पैमाने पर आंदोलन किया था।

आपको बता दें कि हार्दिक पटेल इसी महीने कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए हैं। आपको याद हो कि 2015 में हार्दिक पटेल के नेतृत्व में पाटीदार अमानत आंदोलन समिति (PAAS) ने पाटीदारों को आरक्षण दिलाने के लिए बड़ा आंदोलन किया था।

अब सभी पाटीदार नेताओं और संगठनों ने अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम बदलकर सरदार वल्लभभाई पटेल स्टेडियम करने के लिए एक बार फिर रैली की है। इस मांग को पूरा करने के लिए एक संगठन का गठन किया गया है, जिसका नाम सरदार सम्मान संकल्प आंदोलन समिति है और इस मांग को पूरा करने के लिए किए जा रहे प्रदर्शन को सरदार सम्मान संकल्प यात्रा का नाम दिया गया है।

आपको बता दें कि अहमदाबाद के इस स्टेडियम का नाम सरकार ने बदलकर नरेंद्र मोदी के नाम पर कर दिया था। पहले मोटेरा के नाम से प्रसिद्ध इस स्टेडियम को रिनोवेट किया गया था। नरेंद्र मोदी स्टेडियम दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है। 63 एकड़ में फैले इस स्टेडियम को 800 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से बनाया गया था और फरवरी 2021 में इसका नाम बदला गया था। अभी तक दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम मेलबर्न का था।

ये भी पढ़ें: 

Violence in Howrah: हावड़ा में भड़का उपद्रवियों का हंगामा, ममता बनर्जी ने बीजेपी को ठहराया दोषी

नूपुर शर्मा के समर्थन में उतरीं बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा, कहा- ‘सच कहना अगर बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं’

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *