केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी  ( Minister of Road Transport and Highways ) ने बुधवार को राज्यसभा में बताया कि साल 2024 के आखिर तक केंद्र सरकार भारत के सड़क ढांचे को अमेरिका के बराबर विकसित करने की योजना बना रही है। यह बात गडकरी जी ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान एक प्रश्न का उत्तर देते हुए कही। साथ ही उन्होंने जनता में सड़क सुरक्षा के बारे में और ज्यादा जागरूकता पैदा करने के लिए और ज्यादा प्रयास करने की मांग की। यह जिक्र करते हुए कि “सड़क के बुनियादी ढांचे का विस्तार ही एकमात्र समस्या नहीं है”, “ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, लोगों में जागरूकता, सड़क इंजीनियरिंग और शिक्षा” जैसे अन्य पहलू भी शामिल हैं।

गडकरी जी ने बताया कि भारत में हर साल लगभग 1.5 लाख लोग सड़क दुर्घटनाओं में अपनी जान गंवा देते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि “यह आंकड़ा युद्ध में मारे गए लोगो से ज्यादा है।” उन्होंने ड्राइविंग लाइसेंस के बारे में बात करते हुए कहा कि कैसे भारत में लोग आसानी से ड्राइविंग लाइसेंस हासिल कर लेते हैं।

गडकरी ने कांग्रेस सांसद एल हनुमंतैया के एक सवाल का जवाब देते हुए आगे कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गों को जोड़ने वाली सड़कों का विस्तार करने के साथ ही राष्ट्रीय राजमार्गों पर दुर्घटनाओं की संख्या में कमी लाना सरकार की प्रमुख चिंता है, और उसके लिए उनका मंत्रालय हर कदम उठा रहा है।

सड़क दुर्घटनाओं पर बात करते हुए मंत्री ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं की संख्या को कम करने के लिए एक बिंदु पर एक से ज्यादा दुर्घटनाएं होने पर ब्लैक स्पॉट्स की पहचान की जा रही है और हर जरूरी और संभव कदम उठाए जा रहे हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *