New Startup Finayo Fi-Men Launch in india : भारत 2030 तक पूरी तरह से इलेक्ट्रिक वाहन (EV) देश बनने के दिशा में आगे बढ़ रहा है। इलेक्ट्रॉनिक वाहनों के बिक्री के आंकड़े बताते हैं कि ज़्यादातर कंपनियां इलेक्ट्रोनिक वाहनों की ओर रुख कर रही है और इसीलिए ऑटोमोबाइल निर्माताओं द्वारा कई नए मॉडल का शुभारंभ किया गया है। रिसर्च फर्म जेएमके रिसर्च एंड एनालिटिक्स की रिपोर्ट के अनुसार, देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की संयुक्त बिक्री पिछले साल दिसंबर में 50,000 यूनिट्स हुईं, जो 2020 की तुलना में 240 प्रतिशत ज़्यादा है।

भारत में Finayo(Fi-Men) स्टार्टअप हुआ लॉन्च
आने वाले समय में भारत ईवी शिपमेंट की नई ऊंचाइयों तक पहुंच सकता है। इसी उद्देश्य को आगे बढ़ाते हुए देश में ईवी अपनाने के नए व्यापार मॉडल को अपनाया जा रहा है, लेकिन Banks और NBFC के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल को फाइनेंस करना हमेशा से एक बहुत बड़ी चुनौती रहा है। यदि कुछ NBFC वित्तीय मदद के लिए तैयार है तो उनकी ब्याज दर (NBFCs के interest rate High) बहुत अधिक होती है और लोन राशि बहुत कम है। इसी चुनौती को आसान करने के लिए भारत में एक नया स्टार्टअप लॉन्च हुआ है, जिसका नाम Finayo (Fi-Men) है, जिसकी मदद से अब Banks और NBFC कुछ ही मिनटों में इलेक्ट्रॉनिक वाहनों पर लोन दे सकेंगे। आइए इस स्टार्टअप के बारे में जानते हैं और बताते हैं कि ये स्टार्टअप आपकी कैसे मदद करेगा।

कंपनी के CEO ब्रजेन्द्र सिंह तोमर ने टीम के साथ किया बड़ा Innovation
FINAYO स्टार्टअप कंपनी के CEO ब्रजेन्द्र सिंह तोमर (Brajendra Singh Tomar) ने रिसर्च के साथ अपनी टीम योगेश (CAO), राकेश (COO), कमल (CTO), मेंटर संजय की मदद से FI-Men टेक्नोलॉजी को भारतीय बाज़ार में 28 मार्च 2022 को लॉन्च कर दिया है। इस मौके पर कंपनी के प्रमोटर्स, टीम फिनायो, मेंटर्स, इन्वेस्टर्स ,लेंडिंग पार्टनर प्रेस्टलोन्स के फाउंडर अशोक मित्तल मौजूद रहें। कपंनी के CEO और प्रमोटर्स ने दीप जलाकर कंपनी का उद्घाटन किया। कंपनी लॉन्च के बाद ब्रजेंद्र सिंह तोमर ने मीडिया से बातचीत की और उनको बताया की यह कंपनी कैसे काम करेगी। साथ ही कमल (CTO) ने फाई-मेन टेक्नोलॉजी का डेमो मीडिया के सामने पेश किया।

FINAYO का उद्देश्य EV खरीदारों को एक ही प्लेटफॉर्म पर लाना: ब्रजेंद्र सिंह तोमर
FINAYO के संस्थापक और CEO ब्रजेंद्र सिंह तोमर के अनुसार, विभिन्न Banks और NBFCs दोपहिया वाहनों (Two-Wheeler) और SUV से लेकर कमर्शियल वाहनों तक के विभिन्न EV मॉडल को लोन देना पसंद करते हैं और FINAYO का उद्देश्य EV खरीदारों को एक ही प्लेटफॉर्म पर लाना है ताकि इलेक्ट्रॉनिक वाहन खरीदने वालों को बिना झंझट के लोन मिल सके।

तोमर का यह भी मानना है कि प्रभावशाली फाई-मेन एक समाधान है जो विभिन्न वित्तीय संस्थानों के उपभोक्ताओं को केवल QR कोड के स्कैन के साथ कई प्रकार के लोन ऑफ़र प्रदान करता है। यह OEM, ऋणदाताओं और ग्राहकों के लिए एक आसान और बिना झंझट वाला ऑफऱ है।

फिनायो क्या है और यह कैसे काम करता है?
FINAYO एक क्रांतिकारी स्टार्टअप है जो AI और मशीन लर्निंग सहित अत्याधुनिक तकनीकों का लाभ देश के EV सेगमेंट में वित्तीय बाधाओं को कम करने के लिए शुरू किया गया है।

आपको बता दें कि ट्रेंड सेटिंग तकनीकों का लाभ उठाते हुए FINAYO की टीम ने इस प्लेटफॉर्म को EV के साथ-साथ EV खरीदारों के क्रेडिट इतिहास दोनों के आधार पर आसान लोन का विकल्प दिया है। इसके साथ Banks और NBFC उपभोक्ताओं के व्यवहार को समझते हुए कुछ ही मिनटों में लोन देने का वादा करते हैं। FINAYO देश में अप्रयुक्त EV बाजारों को कवर करेगा ताकि भारत 2030 तक EV उद्देश्य को संयुक्त रूप से पूरा कर सके।

वहीं इलेक्ट्रिक वाहनों के फास्टर एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग जैसी पहल के लिए विभिन्न क्षेत्रों में Ev खरीदारों को सब्सिडी देने के लिए 10,000 करोड़ रुपये का बजट भी तय किया गया है। वहीं नीति आयोग की रिपोर्ट के अनुसार, वित्तीय संस्थानों को 2025 तक अनुमानित रूप से 40,000 करोड़ रुपये और 2030 तक 3.7 लाख करोड़ रुपये का ऋण देना होगा, ताकि जनता के बीच EV को अपनाया जा सके।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *