सौर तूफान: हाल ही में सूर्य पर एक विस्फोट हुआ था। जिसकी वज़ह से अंतरिक्ष में सौर तूफान देखा गया है। ये लगातार 14 मार्च 2022 से बड़ी तेजी से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है और बृहस्पतिवार को हमारे ग्रह से टकरा सकता है।

खबर के मुताबिक़ नासा (NASA ) ने कहा है कि यह सौर तूफान 21,85,200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी की तरफ बड़ी तेजी के साथ बढ़ रहा है। जिसके पृथ्वी से टकराने की आशंका 80 फीसदी तक है। वैज्ञानिकों ने ये भी बताया कि इस बार का तूफान पहले की तुलना में ज़्यादा खतरनाक है और खतरा भी पहले से तीन गुना ज्यादा है। उन्होंने चेताते हुए कहा है कि इसकी वजह से आज सुबह और शाम के वक्त जीपीएस और रेडियो सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं।

ये भी पढ़ें:  Padma Awards 2022: टोक्यो ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद्मश्री अवॉर्ड से किया सम्मानित

सौर तूफान का पृथ्वी पर असर
सौर तूफान के कारण धरती का बाहरी वायुमंडल अधिक गर्म हो जायेगा और इसका सीधा असर उपग्रहों पर पड़ेगा। इससे मोबाइल फोन सिग्नल,जीपीएस नैविगेशन और सैटलाइट टीवी में रुकावट पैदा हो सकती है। इसके साथ ही पावर लाइन में करंट भी तेज हो सकता है, और ट्रांसफार्मर भी उड़ सकते हैं। वैसे आमतौर पर ऐसा कम ही होता है।

ये भी पढ़ें: आम आदमी पर फिर पड़ी महंगाई की मार, Petrol Diesel के दाम आज फिर बढ़े, जानें आपके शहर में क्या हैं नए रेट्स

अंतरिक्ष में तेजी से बदलेंगे हालात
खबर के मुताबिक़ अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी का कहना है कि पिछले कई वर्षों में हमने सूरज में काफी कम हलचल देखी है। ऐसा अधिकतर सोलर मिनिमम के दौरान ही होता है, लेकिन अब हम सोलर मैक्सिमम की ओर बड़ी तेजी से बढ़ रहे हैं। यह 2025 में और अधिक तेज होगा।

ये भी पढ़ें: सरकारी कर्मचारियों के लिए दाढ़ी रखना और ड्रेस कोड होगा अनिवार्य, नियम तोड़ने पर जाएगी नौकरी

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *