Agnipath Scheme Protest: केंद्र सरकार सेना में भर्ती के लिए एक नई योजना ‘अग्निपथ’ लेकर आई है, जिसका युवाओं द्वारा भारी विरोध किया जा रहा है। इसके खिलाफ बिहार में जहां एक तरफ कई जगह पर टायर जलाकर विरोध किया जा तो वहीं ट्रेनें और नेशनल हाईवे पर चक्का जाम कर प्रतियोगी छात्र अपना विरोध जता रहे हैं। बिहार के नवादा से लेकर जहानाबाद तक प्रदर्शन किया जा रहा है। राजस्थान और हरियाणा में भी इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। इस बीच, केन्द्र सरकार की सेना में भर्ती की इस स्कीम का बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawait) ने भी जोरदार विरोध किया है।

देश का युवा वर्ग असंतुष्ट एवं आक्रोशित है: मायावती
मायावती ने अपने आधिकारिकरिक ट्विटर हैंडल से एक के बाद एक कई ट्वीट करे मोदी सरकार पर निशाना साधा है। मायावती ने केन्द्र सरकार से फौरन इस स्कीम को वापस लेने की मांग की है। उन्होंने कहा कि सेना में काफी लम्बे समय तक भर्ती लंबित रखने के बाद अब केन्द्र ने सेना में 4 साल अल्पावधि वाली ’अग्निवीर’ नई भर्ती योजना घोषित की है, उसको लुभावना व लाभकारी बताने के बावजूद देश का युवा वर्ग असंतुष्ट एवं आक्रोशित है। वे सेना भर्ती व्यवस्था को बदलने का खुलकर विरोध कर रहे हैं।

युवाओं व उनके परिवार के भविष्य के साथ खुला खिलवाड़: मायावती
मायावती ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि इनका मानना है कि सेना व सरकारी नौकरी में पेंशन लाभ आदि को समाप्त करने के लिए ही सरकार सेना में जवानों की भर्ती की संख्या को कमी के साथ-साथ मात्र चार साल के लिए सीमित कर रही है, जो घोर अनुचित तथा गरीब व ग्रामीण युवाओं व उनके परिवार के भविष्य के साथ खुला खिलवाड़ है।

फैसले पर सरकार करें पुनर्विचार: मायावती
बसपा प्रमुख ने कहा कि देश में लोग पहले ही बढ़ती गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी एवं सरकार की गलत नीतियों और अहंकारी कार्यशैली आदि से दुःखी व त्रस्त हैं, ऐसे में सेना में नई भर्ती को लेकर युवा वर्ग में फैली बेचैनी अब निराशा उत्पन्न कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार तुरन्त अपने फैसले पर पुनर्विचार करें, बीएसपी की यह मांग है।

आपको बता दें कि अग्निपथ स्कीम का विरोध कर रहे बिहार में प्रदर्शनकारी एक छात्र ने कहा कि आर्म्ड फोर्स में भर्ती होने के लिए हमने कड़ी तैयारियां की। ट्रेनिंग और लीव के बाद चार साल की ये कैसी सर्विस होगी। ट्रेनिंग के बाद सिर्फ तीन साल के लिए कैसे देश की सेवा करेंगे? सरकार को यह स्कीम वापस लेना चाहिए।

ये भी पढ़ें: Agnipath scheme protest: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ बिहार में हंगामा, रेलवे ट्रैक पर उतरे युवा, जहानाबाद में आगजनी

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *