Mamata Banerjee: देश में अलग-अलग राजनितिक पार्टी के सदस्य जिस तरह से धर्मों के ऊपर अपने बयान दे रहे हैं उससे पुरे देश का माहौल बिगड़ रहा हैं। वहीं अब इस पर मचा बवाल अब और तेज हो गया है। आपको बता दें भारतीय जनता पार्टी की निलंबित नेता नुपुर शर्मा ( Nupur Sharma ) द्वारा पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ की गई टिप्पणी मामले में अब राजनीति तेज हो गई है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ( Mamata Banerjee ) ने ट्वीट कर भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोला है। ममता ने सिलसिलेवार ढंग से तीन ट्वीट किए।

ये भी पढ़ें: BJP Suspended Nupur Sharma: पार्टी से सस्पेंड होने के बाद नुपुर शर्मा ने मांगी माफी, मीडिया से की ये अपील

पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा कि’ “मैं कुछ विनाशकारी भाजपा नेताओं द्वारा की गई अभद्र टिप्पणियों की निंदा करती हूं, जिसके परिणामस्वरूप न केवल हिंसा फैल गई, बल्कि देश के ताने-बाने का विभाजन भी हुआ, जिससे शांति और सौहार्द बिगड़ गई।”

ये भी पढ़ें: मौलानाओं के पेंशन को लेकर हिंदू संतो ने दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर किया विरोध प्रदर्शन, उठाई ये मांग

भाजपा के आरोपी नेताओं को तुरंत गिरफ्तार किया जाए: ममता बनर्जी
इसके बाद अन्य ट्वीट में ममता ने लिखा कि, “मेरी मांग है कि भाजपा के आरोपी नेताओं को तुरंत गिरफ्तार किया जाए ताकि देश की एकता भंग न हो और लोगों को मानसिक पीड़ा का सामना न करना पड़े। साथ ही, मैं सभी जातियों, पंथों, धर्मों और समुदायों के अपने सभी भाइयों और बहनों से आम लोगों के व्यापक हित में शांति बनाए रखने की अपील करती हूं। हम इस उकसावे की कड़ी निंदा करते हैं।”

 

ये भी पढ़ें: Rajasthan: खरीद-फरोख्त के डर से उदयपुर होटल में कैद कांग्रेस के 80 विधायक, सचिन पायलट ने तीनों सीटें जीतने का किया दावा

अगर देश में कुछ भी होता है, तो भाजपा जिम्मेदार: संजय राउत
आपको बता दें शिवसेना नेता संजय राउत ( Sanjay Rawat ) ने भी इस मामले पर बयान दिया है और नाराजगी प्रकट की है। उन्होंने कहा कि देश में सबकुछ ठीक चल रहा था, लेकिन भाजपा प्रवक्ता दो अलग-अलग धार्मिक समुदाय के लोगों के बीच लड़ाई कराना चाहती थे। अगर देश में कुछ भी होता है, तो भाजपा को जिम्मेदार माना जाएगा।’ उन्होंने आगे कहा, ‘हम हमारा काम जारी रखेंगे। लेकिन वे कब इन लोगों को संज्ञान लेंगे, जो इन सबका कारण बन रहे हैं?’

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *