Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र की राजनीति इस समय सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बना हुआ है। यहां के सियासी संकट पर हर किसी की नज़र है। बगावत की वजह से सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) नीत सरकार संकट में है। एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) के साथ शिवसेना (Shiv Sena) के विधायक असम (Assam) में डेरा डालकर बैठे हैं। ऐसे में वरिष्ठ नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने विधायकों को संबोधित करते हुए एक ट्वीट किया है।

गुलाम बनने से बेहतर की स्वाभिमान से फैसला लें: संजय राउत

संजय राउत ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा कि चर्चा से ही रास्ता निकल सकता है। आप आकर बातचीत करें। घर के दरवाजे अभी भी खुले हैं। आप इधर-उधर क्यों भटक रहे हो? गुलाम बनने से बेहतर की स्वाभिमान से फैसला लें।

विधायक लौटें तो एमवीए छोड़ने को भी तैयार- संजय राउत
मीडिया से बात करते हुए संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि असम में डेरा डाले हुए बागी विधायकों का समूह अगर अगले 24 घंटे में मुंबई लौटता है तो शिवसेना महाराष्ट्र में महा विकास आघाड़ी (MVA) सरकार से निकलने के लिए तैयार है।

एकनाथ शिंदे के साथ शिवसेना के 37 बागी विधायक
एकनाथ शिंदे वर्तमान में शिवसेना के 37 बागी विधायकों और 9 निर्दलीय विधायकों के साथ गुवाहाटी में डेरा डाले हुए हैं, जिसने पार्टी के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार को संकट में डाल दिया है। एमवीए सरकार में एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) भी साझेदार हैं।

मांगों को लेकर क्या बोले संजय राउत
संजय राउत ने कहा, “आप कहते हैं कि आप असली शिवसैनिक हैं और पार्टी नहीं छोड़ेंगे। हम आपकी मांग पर विचार करने के लिए तैयार हैं, बशर्ते आप 24 घंटे में मुंबई वापस आएं और सीएम उद्धव ठाकरे के साथ इस मुद्दे पर चर्चा करें। ट्विटर और व्हाट्सऐप पर चिट्ठी मत लिखिए।”

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *