Bloating : हेल्दी और फिट रहने के लिए पेट का फिट रहना बेहद ज़रूरी है, लेकिन अनियमित लाइफस्टाइल पेट में अक्सर कुछ न कुछ परेशानी पैदा करता ही रहता है। इनमें सबसे बड़ी परेशानी है पेट का फूलना यानी ब्लोटिंग होना। कई लोगों में अक्सर पेट फूलने की शिकायत (Bloating after Eating) रहती है। यहां तक कि खाना खाने के कई घंटों बाद तक भी पेट भारी रहता है। कई को तो बिना खाए ही पेट भारी रहने लगता। ब्लॉटिंग एक ऐसी समस्या है जिसमें खान-पान में जरा सी भी ऊंच नीच हो और ये तकलीफ बढ़ने लगती है। ब्लोटिंग (Bloating) को आसानी से समझने के लिए आपको पेट के कुछ लक्षणों के बारे में पता होना चाहिएं।

ब्लॉटिंग क्या होती है?
आपको बता दें कि अगर पेट में ज्यादा जलन (Stomach Problem) महसूस हो, या पेट फूला हुआ लगे (Bloating Stomach ), गैस या दर्द (Stomach Pain) की तकलीफ हो तो समझिए आप ब्लॉटिंग के शिकार हैं। ब्लॉटिंग से बचने के लिए डाइट में कुछ थोड़े-बहुत बदलाव कर आप राहत पा सकते हैं।

ब्लॉटिंग की समस्या होने पर इन 5 चीजों को ना खाएं | Food to avoid in Bloating Problem
अगर आपको अक्सर ब्लॉटिंग की शिकायत होती है तो आप अपनी खाने की थाली से कुछ चीजें तुरंत बाहर कर दें। कौन सी हैं वो चीजें जो ब्लॉटिंग की शिकायत होने पर नहीं खाई जाना चाहिए चलिए जानते हैं।

1. ब्रोकली
ब्लॉटिंग की शिकायत हो तो ब्रोकली को खाने में न शामिल करना ही बेहतर है। इस स्थिति में ब्रोकली की वजह से डाइजेशन में दिक्कत हो सकती है। जिसका नतीजा गैस या पेट में जलन हो सकता है।

2. सेब
वैसे तो सेब रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है. लेकिन ब्लॉटिंग के शिकार लोगों के लिए ‘AN Apple in a Day, keeps doctor away..’ वाली कहावत जरा भारी पड़ सकती है। सेब में फाइबर बहुत ज्यादा होता है जो पेट के मामले में नाजुक तबीयत रखने वालों को गैस या सूजन की तकलीफ दे सकते हैं। इसके बावजूद सेब खाना ही चाहें तो बेहतर होगा कि सेब का छिलका हटाकर उसे खाएं।

3. लहसुन
लहसुन में फ्रुक्टेन नाम का तत्व मौजूद होता है। ये तत्व ब्लॉटिंग की समस्या को तेजी से बढ़ाता है. इसलिए लहसुन को कम से कम खाना ही ठीक होगा।

4. बींस
बींस भी डाइजेशन पर जरा भारी पड़ती हैं। इसमें फाइबर की मात्रा बहुत अधिक होती है। जिसकी वजह से पेट में भारीपन लगता है। उसके बाद ब्लॉटिंग , पेट में सूजन और दर्द की शिकायत हो सकती है। बींस भी बहुत अलग अलग तरह की आती हैं। मसलन ड्रम बीन्स जो कोलेस्ट्रॉल के लिए अच्छी मानी जाती हैं। लेकिन सेम फली और बरबटी की वजह से ब्लॉटिंग की शिकायत झेलनी पड़ सकती है।

5. गेंहू का आटा
खाने में शूगर, स्टार्च और गेंहू के आटे की मात्रा को कम करना ब्लॉटिंग में लाभदायक है। इसके अलावा जो भी सब्जी खाएं वह अच्छी तरह से पकी होनी चाहिए।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *