देशभर से धर्म को लेकर हो रहे विवादों के मामले आए दिन सामने आ रहे हैं। देश में धर्म के नाम पर दंगे कम होने को नाम नहीं ले रहे हैं। अब ताजा मामला राजस्थान के जोधपुर से सामने आया है। शहर के जालोरी गेट चौराहा पर ईद की पूर्व संध्या पर भारी हंगामा हुआ। इतना ही नहीं उपद्रवियों से निपटने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज तक करना पड़ गया और आंसू गैस के भी गोले छोड़ने पड़े। वहीं पूरे जिले और शहर में एहतियातन इंटरनेट बंद कर दिया है और संवदेनशील इलाकों में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।

जोधपुर पर दो गुटों में झड़प से तनाव पैदा होना दुर्भाग्यपूर्ण है: सीएम अशोक कहलोत
उन्होंने कहा कि जालौरी गेट, जोधपुर पर दो गुटों में झड़प से तनाव पैदा होना दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रशासन को हर कीमत पर शांति एवं व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा कि  जोधपुर, मारवाड़ की प्रेम एवं भाईचारे की परंपरा का सम्मान करते हुए मैं सभी पक्षों से मार्मिक अपील करता हूं कि शांति बनाए रखें एवं कानून-व्यवस्था बनाने में सहयोग करें।

बाल मुकुंद बिस्सा की मूर्ति पर झंडा लगाने से शुरू हुआ विवाद
दरअसल शहर के जालोरी गेट चौराहा पर मौजूद स्वतंत्रता सेनानी बाल मुकुंद बिस्सा की मूर्ति पर झंडा लगाने और सर्किल पर ईद से जुड़े बैनर लगाने से विवाद की शुरुआत हुई। इसके अलावा ईद की नमाज को लेकर चौराहे तक लाउडस्पीकर लगाने‌ को लेकर नाराज लोगों का हुजूम जमा हो गया। इस दौरान हिंदू लोगों ने नारेबाजी करते हुए झंडे बैनर हटा दिए। इस दौरान इसका विरोध भी हुआ।

उपद्रवियों को काबू पाने के लिए लाठीचार्जल किया गया
वहीं, फिर दूसरा पक्ष भी सक्रिय हो गया और चौराहे पर कई गाड़ियों के कांच फोड़ दिए गए। फिर पथराव हुआ। भीड़ ने लाउडस्पीकर लगाए हुए उतार दिए। इधर, पुलिस ने भी उपद्रवियों को काबू करने के लिए हल्का बल प्रयोग किया। पुलिस ने जालोरी गेट से ईदगाह रोड पर आंसू गैस के गोले दागे। देखते-देखते भारी संख्या में बल तैनात किया गया। दोनों पक्षों के लोग जमा हो गए। पुलिस ने देर रात को पूरा इलाका लोगों से खाली करवा लिया।

3 मई तक इंटरनेट सेवा बंद
इस झड़प के बाद जिले और शहर में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। संभागीय आयुक्त हिमांशु गुप्ता ने अपने आदेश में कहा है कि कानून व्यवस्था को देखते हुए जिले में 3 मई को रात 1 बजे से इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

पत्रकारों को भी पीटा
इस दौरान मीडियाकर्मियों से पुलिस का विवाद हुआ। पत्रकारों पर भी लाठियां भांजी गईं। वहीं, एक पत्रकार को चोट भी लगी. पत्रकार इसका विरोध जताने के लिए सड़क पर धरने पर बैठ गए।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *