देशभर में अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme Protest) के विरोध में हो रहे हिंसक प्रदर्शन के बीच महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने अग्निवीरों को राहत देचे हुए एक बड़ी घोषणा की है। दरअसल, चार साल की सर्विस के बाद अग्निवीरों को महिंद्रा ग्रुप में काम करने का मौका मिलेगा।

ये भी पढ़ें: Agnipath Scheme: देशभर में विरोध प्रदर्शन के बीच गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला, अग्निवीरों के लिए CAPF-असम राइफल्स में 10% आरक्षण

आनंद महिंद्रा ने क्या कहा?
आनंद महिंद्रा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा कि अग्निपथ स्कीम की घोषणा के बाद जिस तरह की हिंसा हो रही है, उससे दुखी और निराश हूं। पिछले साल जब इस स्कीम पर विचार किया जा रहा था, तब मैंने कहा था कि अग्निवीर को जो अनुशासन और कौशल मिलेगा वह उन्हें उल्लेखनीय रूप से रोजगार योग्य बनाएगा। आगे लिखा गया कि महिंद्रा ग्रुप इस तरह के प्रशिक्षित, सक्षम युवाओं को हमारे यहां भर्ती (नौकरी) का मौका देगा।

अग्निवीरों को कंपनी में कौन-सी पोस्ट मिलेगी
आनंद महिंद्रा से यह भी पूछा गया कि वह अग्निवीरों को कंपनी में क्या पोस्ट दी जाएगी? इस पर लिखा गया, ‘लीडरशिप क्वॉलिटी, टीम वर्क और शारीरिक प्रशिक्षण की वजह से अग्निवीर के रूप में इंडस्ट्री को बाजार के लिए तैयार पेशेवर मिलेंगे। ये लोग एडमिनिस्ट्रेशन, सप्लाई चेन मैनेजमेंट कहीं भी काम कर सकते हैं।’

आज बुलाया गया भारत बंद
अग्निपथ योजना के खिलाफ सेना में नौकरी की कोशिश कर रहे अभ्यर्थियों ने आज भारत बंद बुलाया है। विपक्ष ने भी भारत बंद का मूक समर्थन किया है। आज भारत बंद से निपटने के लिए रेलवे ने कमर कस ली है। RPF और GRP को उपद्रवियों से सख्ती से निपटने के निर्देश दिये गए हैं। कहा गया है कि हिंसा करने वालों पर कठोर धाराओं में केस दर्ज होंगे।

ये भी पढ़ें: ‘अग्निपथ’ की आग में जल रहा बिहार, लखीसराय और समस्तीपुर में ट्रेनों को लगाई आग, हरियाणा में इंटरनेट सेवाएं बंद

बिहार के 20 जिलों में इंटरनेट सेवा बंद
भारत बंद के दौरान बिहार के 20 जिलों में इंटरनेट सेवा बंद रहेगी। अग्निपथ योजना के विरोध में इन जिलों में हिंसा हुई थी। सीएम नीतीश कुमार ने आज का जनता दरबार भी रद्द कर दिया है। भारत बंद के दौरान दिल्ली एनसीआर में प्रदर्शन की आशंका को देखते हुए पुलिस प्रशासन अलर्ट है। नोएडा में धारा 144 लागू है।

आपको बता दें कि 14 जून को अग्निपथ योजना की घोषणा हुई था, तभी से लेकर लगातार हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि स्कीम में पेंशन खत्म कर दी गई है, वहीं सर्विस को सिर्फ चार साल तक सीमित कर दिया गया है जो कि ठीक नहीं है। सेना में जाने के इच्छुक छात्रों का सवाल है कि वे चार साल बाद जब रिटायर हो जाएंगे तब क्या करेंगे?

ये भी पढ़ें: Agnipath scheme protest: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ बिहार में हंगामा, रेलवे ट्रैक पर उतरे युवा, जहानाबाद में आगजनी

वहीं अग्निपथ योजना के विरोध में बिहार में प्रदर्शनकारियों ने कई ट्रेनों को आग के हवाले किया था। सिर्फ बिहार में रेलवे का 700 करोड़ का नुकसान हो चुका है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *