हमारा भारत देश त्योहारों का देश हैं और यहां त्योहारों को बड़े धूमधाम से मनाते हैं और त्योहारों पर घरों में पकवान और मिठाइयां न बनें, ऐसा तो हो नहीं सकता। होली रंगों का त्योहार हैं और इस दिन भी घरों में तरह-तरह के व्यंजन बनते हैं। लेकिन लोग कई बार स्वाद-स्वाद और मस्ती में जरूरत से ज्यादा खा लेते हैं और फिर बाद में एसिडिटी, पेट दर्द और कब्ज जैसी समस्याएं हो जाती हैं। और अगर आप भी खुद को पकवान खाने से रोक नहीं पाते हैं तो फिर घबराने की कोई बात नहीं हैं। आप कुछ इन आसान से घरेलू उपायों द्वारा इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

पानी है सबसे जरूरी
पकवान या तला हुआ खाने के बाद बार-बार प्यास लगती है और अगर आप ऐसे में पानी नहीं पीते तो फिर आपके पेट में जलन हो सकती है, तो इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए पानी सबसे जरूरी है।  पानी आपके खाने को आसानी से पचाने और पेट में जलन में सहायता करेगा। अगर आप गुनगुना पानी पीते हैं तो और जल्दी और ज्यादा फायदा होगा।

अदरक का उपयोग
पेट की गड़बड़ी में अक्सर अदरक का इस्तेमाल काफी कारगर होता है। एक चम्मच अदरक पाउडर को दूध में मिलाकर पीने से आराम मिलता है। अदरक में एंटी-बैक्टीरियल और एंटीफंगल तत्व पाए जाते हैं, जो पेट दर्द में बड़ी राहत पहुंचाता हैं।

चावल का पानी
पाचन संबंधी समस्याओं से निजात पाने के लिए काफी पुराने समय से चावल के पानी का उपयोग होता आया है। ऐसे में अगर आपने कुछ चटपटा खा लिया हैं और बाद में आप पेट दर्द या दस्त से परेशान हैं तो इसमें चावल का पानी काफी फायदेमंद हो सकता है। इसके अलावा आप मूंगदाल खिचड़ी दही के साथ भी खा सकते हैं।

पुदीना का इस्‍तेमाल
सदियों से पुदीना का इस्‍तेमाल पेट से जुड़ी समस्याओं के समाधान में किया जाता रहा है। पुदीना एक बेहद हेल्दी हर्ब है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाचन क्रिया को सुधारने में भी काफी सहायक है।

नारियल पानी
पकवान और तला हुआ या ज्यादा चीनी युक्त पदार्थों के सेवन से आपको गैस की समस्या हो सकती है। साथ ही आपके पेट में बैड बैक्टीरिया पैदा हो सकते हैं। ऐसे में इस समस्या से राहत पाने के लिए आप सोडियम और पोटैशियम युक्त नारियल पानी पी सकते हैं क्योंकि नारियल पानी में इलेक्ट्रोलाइट्स पाया जाता हैं जो आपकी बॉडी में मौजूद इलेक्ट्रोलाइट के संतुलन को बनाकर आपके पेट को स्वस्थ रखेगा।

कैमोमाइल चाय
इस चाय में पाए जाने वाले एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण यह पेट दर्द की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकती है। इसका उपयोग पाचन संबंधी परेशानियों से आराम पाने के लिए काफी समय से किया जा रहा हैं। विशेषज्ञों के अनुसार कैमोमाइल टी प्राकृतिक रूप से हाइपर एसिडिटी और एसिड रिफ्लक्स के इलाज में सहायक हो सकती है।

दही का सेवन
अगर अपच या गैस जैसी परेशानी हो रही है तो दही को पानी में मिलाकर उसकी लस्सी बना लें और बिना चीनी या नमक मिलाए पिएं। इससे पेट को आराम मिलेगा। दही पेट को ठंडक भी पहुंचाती है।

जीरा है फायदेमंद
जीरा पेट में कब्ज को सही करता हैं। अगर आपका पेट खराब है तो जीरे को हल्का सा भून लें और गर्म पानी के साथ इसका सेवन करें। इसे खाने से पेट में आराम मिलेगा और मोशन ठीक होंगे।

केला का उपयोग है बेस्ट
केला में पेक्टीन नामक तत्व पाया जाता है जो लूजमोशन को रोकने का काम करता है। इसलिए पेट खराब होने पर केला सबसे बेहतर विकल्प माना जाता है। अगर खाने से आपका पेट खराब हो गया है तो केले का सेवन आपके मोशन में आराम पहुंचा सकता हैं।

(डिस्क्लेमर: ये सलाह केवल आम जानकारी के लिए दी गई हैं और इसे आजमाने से पहले किसी पेशेवर चिकित्सा या अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।)

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *