दो पहिया वाहनों पर अब बच्चों के लिए हेलमेट (helmet for children on bike) और सेफ्टी बेल्ट अनिवार्य होगा। इसके लिए केंद्र सरकार की तरफ से सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है।

इस नोटिफिकेशन के मुताबिक, कुल तीन बदलाव किए जा रहे हैं। इसमें बाइक पर बैठे बच्चों के लिए सेफ्टी हार्नेस ज़रूरी होगी। साथ ही बच्चों को क्रैश हेलमेट भी लगा होना चाहिए। वहीं जब बच्चा बैठा हो तो मोटरसाइकिल की स्पीड 40 किलोमीटर प्रति घंटा तक होनी चाहिए। वहीं इस नए यातायात नियम का उल्‍लंघन करने पर 1,000 रुपये का जुर्माना देना पड़ेगा और तीन महीने का ड्राइविंग लाइसेंस निलंबित किया जा सकता है।

नोटिफिकेशन के अनुसार, नए नियम 15 फरवरी 2023 से लागू होंगे। बता दें कि इससे पहले पिछले साल अक्टूबर में मंत्रालय ने एक ड्राफ्ट नोटिफिकेशन जारी करके नियमों में बदलाव का प्रस्ताव दिया था।

ये भी पढ़ें: UP Election 2022: इस चुनाव में पहली बार प्रचार करेंगे मुलायम सिंह यादव, बेटे के लिए मांगेंगे वोट

नियमों के मुताबिक, मोटर साइकिल पर 9 महीने से 4 साल तक के बच्चों को बैठाकर ले जाने वालों को सेफ्टी बेल्ट (हार्नेंस) लगानी होगी। पीछे बैठे बच्चों को क्रैश हेलमेट पहनना होगा जो उनके सिर पर पूरी तरह से फिट बैठता हो।

आपको बता दें कि दोपहिया वाहन पर पीछे बैठने वाले बच्चों के लिए अधिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए नए नियम को शामिल करने के लिए केंद्रीय मोटर वाहन अधिनियम में संशोधन किया गया है। यह नियम चार साल तक के बच्चों को कवर करता है। नए नियमों के अनुसार, इस्तेमाल किया जाने वाला सेफ्टी हार्नेस हल्का, वाटरप्रूफ, कुशन वाला होना चाहिए और इसमें 30 किग्रा भार वहन करने की क्षमता होनी चाहिए। इसके अलावा सवारी की पूरी अवधि के दौरान बच्चे को सुरक्षित करने के लिए सवार को बच्चे को हार्नेस से बांधना होता है।

वहीं केंद्र सरकार की तरफ से एक और नियम बनाया जाने वाला है। यह जोखिम भरे माल ढुलाई वाले वाहनों पर लागू होगा। इसमें ऐसे वाहनों को ट्रैकिंग सिस्टम लगाना ज़रूरी होगा, सिस्टम लगने के बाद इनकी फिटनेस और लोकेशन का पता चलता रहेगा। इसका प्रस्ताव लाया गया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *