गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर केन्द्र सरकार की ओर से पद्म पुरस्कारों की घोषणा की गई है। इस साल के पद्म पुरस्कारों में पद्म भूषण पुरस्कार के लिए पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य का भी नाम शामिल है, लेकिन बुद्धदेब भट्टाचार्य ने पद्मभूषण पुरस्कार स्वीकार करने से इंकार कर दिया है।

बता दें कि सार्वजनिक क्षेत्र में उनकी सेवा के लिए उन्हें पद्म भूषण सम्मान से सम्मानित करने की घोषणा की गई है। हालांकि उन्होंने ये सम्मान लेने से मना कर दिया है। जनसत्ता के अनुसार बुद्धदेव भट्टाचार्य ने कहा कि अगर सचमुच में उन्हें पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित करने का ऐलान किया गया है तो वह इसे अस्वीकार करते हैं। उन्हें इस पुरस्कार के बारे में बताया ही नहीं गया ना ही उनकी सहमति ली गई है।

गौरतलब है कि बुद्धदेब वर्ष 2000 से 2011 तक पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री रहे हैं। वो जादवपुर विधानसभा क्षेत्र से लगातार 24 साल तक विधायक निर्वाचित हुए। वो माकपा के शीर्ष नीति निकाय पोलितब्यूरो के भी सदस्य रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस के बंगाल में जीत के पहले वो ही बंगाल के मुख्यमंत्री रहे।

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी ने नमो एप से किया संबोधन, कहा – लोगों के पास देश का भाग्य बदलने की क्षमता का अधिकार

आपको बता दें कि इस वर्ष कुल 128 हस्तियों को पद्म पुरस्कार दिए जाएंगे। बता दें कि इसमें पूर्व सीडीएस जनरल बिपिन रावत का भी नाम है। उन्हें मरणोपरांत पद्म विभूषण पुरस्कार से नवाज़ा जाएगा। जबकि यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को भी मरणोपरांत पद्म विभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इस वर्ष 4 हस्तियों को पद्म विभूषण, 17 हस्तियों को पद्म भूषण ,जबकि 107 हस्तियों को पद्म श्री सम्मान से सम्मानित किया जाएगा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *