रांची: सीबीआई (CBI) की विशेष अदालत ने चारा घोटाले के डोरंडा कोषागार मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को दोषी करार पाया है। लालू प्रसाद यादव को 21 फरवरी को सजा सुनाई जाएगी। 21 फरवरी को लालू प्रसाद यादव को कोर्ट में उपस्थित होना होगा।

इसके अलावा आपको बता दें कि लालू यादव समेत 75 आरोपियों को दोषी करार दिया है। इस मामले में 38 दोषियों को 3 साल की सजा दी गई। बाकी 37 लोगों की सजा पर 21 फरवरी को फैसला आएगा। वहीं 24 लोगों को इस मामले में बरी कर दिया गया है।

आपको बता दें कि बहुचर्चित चारा घोटाले के सबसे बड़े मुकदमे आरसी-47 ए/96 में सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एसके शशि ने यह फैसला सुनाया। ये भी पढ़ें: भोजपुरी इंडस्ट्री में छाया ‘पुष्पा’ का जादू, ‘मैं झुकेगा नहीं साला’ पर बना दिया गाना

वहीं लालू यादव के वकील प्रभात कुमार ने बताया कि लालू यादव की सजा पर 21 फरवरी को सुनवाई होगी। हमने गुजारिश की है लालू प्रसाद यादव की तबियत ठीक नहीं है, जेल प्राधिकरण को निर्देश दिया जाए कि उन्हें रिम्स में शिफ्ट किया जाए।

लालू प्रसाद यादव को कोर्ट रूम से पुलिस कस्टडी में होटवार जेल भेजा गया। लालू प्रसाद यादव की मेडिकल कंडिशन के बारे में जेल अधीक्षक को सूचना दे दी गई। अब जेल अधीक्षक को तय करना है कि उनको मेडिकल कंडिशन को देखते हुए रिम्स भेजा जाए या होटवार जेल में ही रखा जाए।

सुशील कुमार मोदी ने कहा- जैसी करनी वैसी भरनी:
लालू यादव के दोषी करार दिए जाने पर बिहार के पूर्व डिप्टी CM व BJP नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा, “इस मामले को हमने ही उजागर किया था, पटना हाईकोर्ट की निगरानी में अगर जांच न होती तो ये कभी सामने नहीं आता। ये मामला 139 करोड़ रुपए का था। ये फैसला स्वागत योग्य है, जैसी करनी वैसी भरनी।”

आपको बता दें कि इससे पहले चारा घोटाले से जुड़े चार मामलों में कोर्ट ने लालू प्रसाद को करीब 14 साल की सजा सुनाई थी। ये मामले दुमका, देवघर और चाईबासा कोषागार(दो मामले) से पैसे निकासी से जुड़े थे। सजा के अलावा 60 लाख का जुर्माना भी लालू यादव को भरना पड़ा था।

ये है मामला:
यह मामला लगभग 23 साल पुराना है। दरअसल 1990 से 1995 के बीच झारखंड के डोरंडा स्थित ट्रेजरी से 139.35 करोड़ रुपए की अवैध निकासी की गई थी। इस केस में सीबीआई विशेष अदालत ने 29 जनवरी को बहस पूरी कर ली थी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *