जहां एक दिन पहले भारत सरकार ने गूगल (Google) के सीईओ सुदंर पिचाई (Sundar Pichai) को सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म भूषण से सम्मानित किया। वहीं दूसरी ओर फिल्म निर्देशक सुनील दर्शन ने सुंदर पिचाई पर मुंबई में कॉपीराइट एक्ट के तहत एक एफआईआर दर्ज कराई है। जिसके बाद गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

कॉपीराइट एक्ट के तहत दर्ज हुआ मुकदमा
बता दें कि फिल्म निर्देशक सुनील दर्शन ने महाराष्ट्र की एक अदालत के निर्देश पर सुंदर पिचाई समेत कंपनी के पांच अन्य अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। सुनील दर्शन ने अपनी शिकायत में कहा कि गूगल ने एक अनधिकृत व्यक्ति को उनकी 2017 में आई फिल्म ‘एक हसीना थी, एक दीवाना था’ को यूट्यूब पर अपलोड करने की मंज़ूरी दी। इसी को लेकर उन्होंने सुदंर पिचाई समेत गूगल के 5 कर्मचारियों के खिलाफ कॉपीराइट एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया है।

यूट्यूब पर अपलोड होने के कारण हो रहा भारी नुकसान
सुनील दर्शन का आरोप है कि फिल्म के यूट्यूब पर अपलोड होने के कारण इसे लाखों बार देखा गया, जिससे मुझे भारी नुकसान हो रहा है। मैं गूगल से इस फिल्म को अपने प्लेटफार्म से हटाने के लिए अनुरोध किया लेकिन कोई भी जवाब नहीं मिला। इसके बाद मेरे पास कोई रास्ता नहीं बचा और मुझे कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाना पड़ा।

मैं सिर्फ अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहा हूं
उन्होंने बताया कि कोर्ट ने उनके पक्ष में आदेश देते हुए पुलिस को एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया है। सुनील ने कहा कि इस मामले में एक अरब से ज्यादा बार कॉपीराइट का उल्लंघन हुआ है और मेरे पास हर एक का रिकॉर्ड है।  साथ ही मुझे इस मामले में समझौता करने में भी कोई परेशानी नहीं है। उन्होंने कहा कि मैं सिर्फ अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहा हूं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *