नई दिल्ली: फेसबुक को आज के समय में कौन नहीं जानता। इसकी लोकप्रियता का अंदाज़ा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि दुनिया भर में फेसबुक के रोजाना एक्टिव यूजर्स की संख्या करीब 193 करोड़ हैं। शुक्रवार, 4 फरवरी को फेसबुक ने 18 साल पूरे कर लिए हैं। बता दें कि फेसबुक की शुरुआत 4 फरवरी 2004 को हुई थी। फेसबुक की शुरुआत से ही इसके यूजर्स तेजी से बढ़ते ही गए हैं, लेकिन इन 18 सालों में पहली बार ऐसा हुआ है कि इस बार रोजाना एक्टिव यूजर्स की संख्या गिरी है।

NBT के मुताबिक, 2021 की आखिरी तिमाही में फेसबुक के रोज़ाना एक्टिव यूजर्स की संख्या 193 करोड़ से घटकर 192.9 करोड़ रह गई है। इसकी वजह से कंपनी के शेयरों पर बड़ा असर देखने को मिला है।

फेसबुक के यूजर्स की संख्या में महज 10 लाख की गिरावट से ही कंपनी के शेयर में भारी गिरावट आई है। देखते ही देखते अमेरिका के न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में बृहस्पतिवार को मेटा नेटवर्क्स के शेयर करीब 27 फीसदी गिर गए। इसकी वजह से कंपनी का मार्केट कैप करीब 237 अरब डॉलर (यानी करीब 18 लाख करोड़ रुपये) घट गया।

आपको बता दें कि अमेरिका में एक दिन में किसी भी कंपनी के शेयरों में इतनी बड़ी गिरावट इससे पहले कभी नहीं देखी गई है।

वहीं कंपनी ने इसके लिए भारत में डेटा की कीमत में हुई बढ़ोतरी को भी जिम्मेदार ठहराया है। फेसबुक ने कहा कि भारत में डेटा कीमतों में बढ़ोतरी से दिसंबर, 2021 की तिमाही में उसके यूजर्स को ग्रोथ सीमित रही। वेनर ने कहा कि फेसबुक के यूजर्स की संख्या में ग्रोथ कई कारणों से प्रभावित हुई है।

गौरतलब है कि 18 साल पुरानी फेसबुक को टिकटॉक और यूट्यूब से भी कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। बड़ी संख्या में यूजर्स इन प्लेटफॉर्म्स की तरफ शिफ्ट हो रहे हैं। इससे आने वाली तिमाही में फेसबुक का रेवन्यू बुरी तरह प्रभावित हो सकता है। पिछले साल की चौथी तिमाही में फेसबुक के 2.91 अरब मंथली एक्टिव यूजर थे और उससे पिछले तिमाही की तुलना में इस संख्या में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *