आप सभी इस बात से वाकिफ ही होंगे कि बचपन से ही दादी-नानी हमें घी खाने की बहुत सलाह देती थीं। घी हर भारतीय रसोई में पाए जाने वाले सबसे महत्वपूर्ण और खास खाद्य पदार्थों में से एक है। घी खाने से न सिर्फ हड्डियां मजबूत होती हैं, बल्कि यह त्वचा को बेदाग और चमकदार भी बनाता है। अब तक कई सेलेब्रिटीज और न्यूट्रिशनिस्ट भी घी के फायदे गिना चुके हैं। कुछ समय पहले मीरा राजपूत ने खुलासा किया था कि वह बेदाग और दमकती त्वचा के लिए घी पीती हैं।

ये भी पढ़ें: रोजाना पिएं सूरज की रोशनी से चार्ज किया गया पानी, सेहत और स्किन के लिए साबित होगा फायेदेमंद

मीरा ने इंस्टाग्राम पर लिखा, “घी हमारे शरीर के लिपिड की संरचना के सबसे करीब है। यह विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का काम करता है और कोशिकाओं को पोषण देता है। आपको अपने घी की मात्रा को धीरे-धीरे बढ़ाना होगा जब तक कि यह आपके शरीर में भरकर आपके छिद्रों से बाहर न आ जाए। घी में विटामिन ए, डी, कैल्शियम, फास्फोरस, खनिज और पोटेशियम जैसे कई पोषक तत्व होते हैं ऐसे में आयुर्वेद अपने सर्वोत्तम लाभ के लिए खाली पेट घी का सेवन करने की सलाह देता है। ये भी पढ़ें: World Food Safety Day 2022: विश्व खाद्य दिवस पर जानें सुरक्षित और स्वस्थ भोजन की पद्धतियां

बता दें कि आयुर्वेद में इसे स्नेहन कहते हैं। दरअसल, यह एक ऐसी थेरेपी है जो शरीर को अंदर से डिटॉक्स करने का काम करती है। आइए जानते हैं कि स्नेहन क्या है?
स्नेहन क्या है?
चिकनाई या घी पीना आयुर्वेदिक डिटॉक्स थेरेपी का हिस्सा है। दरअसल, यह शरीर को अंदर से साफ करता है। यह 7-8 दिनों की पूरी प्रक्रिया है और कुछ मिनटों के अंतराल में घी का सेवन किया जाता है। आमतौर पर इसे आयुर्वेद के डॉक्टर की देखरेख में करने की सलाह दी जाती है। हालांकि, स्नेहन शुरू करने से पहले, शरीर घी के उचित पाचन के लिए तैयार होता है। इसका मतलब है कि हमें शरीर की अग्नि (पाचन अग्नि) को मजबूत करना होगा और एक निश्चित दिनचर्या अपनानी होगी। ऐसा करने से पहले मसालेदार भोजन के साथ कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन करना सख्त मना है।

ये भी पढ़ें:Laughing Buddha : घर में इन जगहों पर रखें लाफिंग बुद्धा, नहीं आएगी कभी तंगी!

घी पीने के फायदे:
1. शरीर मे सूखेपन से निपटने के लिए घी लगाया जाता है।
2. जलन, दाने और सूजन के इलाज के लिए घी का प्रयोग करें।
3. इंफेक्शन से बचने के लिए अक्सर स्कैल्प पर घी लगाया जाता है
4. बालों का रूखापन दूर करने के लिए भी घी लगाया जाता है।
5. घी एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है जो शरीर को आराम पहुंचाता है।
6. घी के नियमित सेवन से शरीर का वजन कम होता है।
7. घी स्वस्थ हृदय का समर्थन करता है।
8. लैक्टोज उत्पादों के लिए घी एक स्वस्थ विकल्प है।

ये भी पढ़ें: रिलेशनशिप को बेहतर और मजबूत बनाने के लिए सिर्फ फिज़िकल इंटीमेसी का नहीं इनका भी रखें ध्यान

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *