बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर्स की बात करें, तो हर किसी की ज़ुबां पर मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) का नाम ज़रूर आएगा। मनोज बाजपेयी ने अपने हर किरदार को बखूबी निभाया है और उसमें अपने अभिनय से जान फूंक दी है। मनोज साल 1998 में आई राम गोपाल वर्मा की फिल्म ‘सत्या’ में दिखाई दिए थे, जिसके बाद वो रातों रात मशहूर हो गए। रिलीज के कुछ दिन के भीतर ही वो अपने एरा के प्रशंसित अभिनेताओं में से एक बन गए। ये भी पढ़ें: Ra Ra Rakkamma Song Out: फिल्म ‘Vikrant Rona’ का गाना हुआ रिलीज, किच्चा सुदीप और जैकलीन के डांस ने बनाया दीवाना

नशे की हालत में पहली बार अमिताभ से मिले मनोज बाजपेयी
हाल ही मनोज बाजपेयी ने ‘द लल्लनटॉप’ को एक इंटरव्यू दिया है। इस दौरान उन्होंने करियर के शुरुआती दिनों में अमिताभ बच्चन से हुई पहली मुलाकात के दिनों को याद किया है। उन्होंने बताया की वह नशे में धुत थे जब वह अमिताभ से पहली बार मिले थे।

मेरे हाथ-पैर कांप रहे थे: मनोज बाजपेयी
मनोज ने बताया कि वो डायरेक्टर राम गोपाल वर्मा और क्रिटिक खालिद मोहम्मद के साथ कार में शराब पी रहे थे। वहीं अंदर अमिताभ बच्चन अपने परिवार के साथ उनकी फिल्म देख रहे थे, जिससे वो काफी घबराए हुए थे, क्योंकि वो इससे पहले कभी अमिताभ से नहीं मिले थे। मनोज ने कहा,” अमिताभ अंदर अपने परिवार के साथ मेरी फिल्म देख रहे थे, ये सोचकर मेरे हाथ पैर कांप रहे थे।” ये भी पढ़ें: एड शूट से सामने आई करीना कपूर खान की तस्वीर, सफेद शर्ट में लगी गॉर्जियस

मनोज को कार से बाहर बुलाने के लिए चली गई चाल
”जब फिल्म खत्म होने वाली थी, राम गोपाल वर्मा कुछ लोगों को मिलने कार से बाहर चले गए। उन्होंने पूछा,तुम आओगे? मैंने कहा नहीं सर, मैं बहुत घबराया हुआ हूं, मैं फेस नहीं कर पाऊंगा।” इसके बाद मनोज ने हंसते हुए बताया कि खालिद ने उन्हें कार से बाहर बुलाने के लिए चाल चली और जैसे ही वो कार से बाहर आए, उन्होंने कार लॉक कर दी। ”उन्होंने कहा जाओ, अमित जी से मिलो। यहां बैठने का कोई मतलब ही नहीं है, वो तुम्हारें हीरो हैं।”

अभिषेक बच्चन ने आवाज़ देकर दी बधाई
मनोज अपने आदर्श को मिलने के लिए काफी नर्वस थे और उनसे मिलने का साहस नहीं जुटा पाए। इसलिए वो वॉशरूम की ओर भागे, ताकी वो अमिताभ के जाने तक वहां रह सकें। लेकिन तभी उन्हें आवाज आई, अभिषेक बच्चन ने उनका नाम पुकारा और उन्हें फिल्म की बधाई दी। ये भी पढ़ें: फिल्मों में ‘आइटम सॉन्ग’ और फेयरनेस क्रीम के विज्ञापन क्यों नहीं करती हैं कंगना, इंटरव्यू में खुद बताई वजह

अचानक सामने आ गए थे अमिताभ
मनोज ने बताया,”अभिषेक ने मेरी तारीफ करनी शुरू की और बात करता रहा। तब तक पीछे से एक व्यक्ति आताहै, ये पूरा फिल्मी है। एक लंबे से कद वाला आदमी पीछे से आया। वो मेरी तरफ देख रहे हैं और ये हैं श्री अमिताभ बच्चन और इनको पर्दे पर देखने के बाद पहली बार देख रहा था मैं। और वो भी नशे की हालत में।

अमिताभ को देख कान में बजने लगी थी सीटियां
मनोज ने याद करते हुए बताया कि जैसे ही मैंने उन्हें देखा, मेरे कान में सीटी बजने लगी थी। ”जैसे ही उनको देखा, सच में लगा मेरे कान से सीटी की आवाज निकली। वो कुछ बोल रहे थे, मुझे उनकी आवाज सुनाई दे रही थी, लेकिन क्या बोल रहे थे वो समझ नहीं आ रहा था। क्योंकि सीटी की आवाज तेज होती जा रही थी और थोड़ा नशा भी था।” ये भी पढ़ें: Cannes 2022 से लौटते ही अभिषेक बच्चन को मिली करीबी के निधन की खबर, याद में लिखा इमोशनल पोस्ट

हिम्मत जुटा कर गले लगाने को कहा था
मनोज ने कहा,”अमिताभ ने उनका हाथ पकड़ा हुआ था और मैं उनके चेहरे पर देख रहा था। मुश्किल से मैंने हिम्मत करके पूछा कि क्या मैं आपको गले लगा सकता हूं। जिसपर अमिताभ ने कहा,”अरे भाई क्यों नहीं? उन्होंने मुझे गले लगाया। मैं अपने जीवन में वो पल भूल नहीं सकता।” ये भी पढ़ें: अपना बेटा बताने वाले दंपत्ति को Dhanush ने भेजा नोटिस, कहा-‘झूठ बोलना बंद नहीं किया तो मानहानि का केस किया जाएगा”

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *