Bollywood News : बीते कुछ समय से बॉलीवुड में कुछ भी अच्छा नही चल रहा है। दरअसल, साल 2022 हिंदी सिनेमा के लिए कुछ खास नहीं गुजर रहा है। बॉलीवुड की हर बड़ी फिल्म को बायकॉट का सामना करना पड़ा है, जिस वजह से फिल्मों का कलेक्शन भी नुकसान में रहा। इन दिनों सिनेमाघरों में पैन इंडिया लेवल पर रिलीज हुई फिल्म ‘ब्रह्मास्त्र’ ( Brahmāstra: Part One ) लगी हुई है। अयान मुखर्जी के निर्देशन में बनी इस फिल्म को भी जबरदस्त बायकॉट का सामना करना पड़ा। इन सबके बीच, अब ‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ( Vivek Agnihotri ) ने बायकॉट ट्रेंड पर अपना बयान दिया है और इस कल्चर को अच्छा बताया है।

ये भी पढ़ें: Taapsee Pannu: अभिनेत्री तापसी का गुस्सा पहुंचा सातवे आसमान पर, पत्रकार से कहा- ढंग से होमवर्क करके आओ

ये भी पढ़ें: Sonu Sood: सोनू सूद ने IAS के छात्रों के लिए शुरू की फ्री कोचिंग, जानें अप्लाई करने की तरीका

बायकॉट एक अच्छा ट्रेंड है- विवेक अग्निहोत्री
आपको बता दे कि बायकॉट कल्चर पर बात करते हुए विवेक अग्निहोत्री ( Vivek Agnihotri ) ने इस मुद्दे पर खुलकर अपनी राय रखी है। निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने बताया कि यह एक अच्छा ट्रेंड है। ‘बायकॉट बॉलीवुड’ अभियान ‘बेहद अच्छा’ है, क्योंकि ये लोगों की उस चीज की हताशा को दर्शाता है जिस पर बॉलीवुड विचार कर रहा है। विवेक ने अपने लेटेस्ट इंटरव्यू में ये भी कहा कि यह थोड़ा मुश्किल मुद्दा है।

ये भी पढ़ें: ‘बिग बॉस’ फेम Arti Singh ने 18 दिन में घटाया 5kg वजन, शेयर किया फिटनेस वीडियो

मैं बॉलीवुड का हिस्सा नहीं हूँ- विवेक अग्निहोत्री
उन्होंने इसके आगे बात करते हुए कहा कि इस ट्रेंड का आखिरी परिणाम बहुत सकारात्मक होगा। हालांकि, इस दौरान विवेक ने यह भी माना कि वह बॉलीवुड का हिस्सा नहीं हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं बॉलीवुड का हिस्सा नहीं हूं, जो आजमाए और परखे हुए फॉर्मूले का इस्तेमाल करता है, बल्कि, मैं इससे बाहर हूं और हिंदी फिल्में बनाता हूं। इस दौरान विवेक से यह भी पूछा गया कि क्या ये अभियान दक्षिणपंथी द्वारा किया जा रहा है? इस सवाल का बेहद ही सीधा जवाब देते हुए विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि ये बॉलीवुड के खिलाफ सांस्कृतिक विद्रोह है।

ये भी पढ़ें: ऋचा चड्ढा इस महीने अली फजल के साथ सात लेंगी फेरे, शादी की डेट आई सामने

मैं बस फिल्म उद्योग में सुधार चाहता हूं- विवेक अग्निहोत्री
इसके आगे निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने कहा, मैं यह कहना चाहता हूं कि मैं किसी के खिलाफ नहीं हूं। मैं बस फिल्म उद्योग में सुधार चाहता हूं। यह नकली बिजनेस एक गर्म हवा का गुब्बारा है जो अब फट गया है। अब जरूरत है ध्यान को सितारों और पीआर अभियान से हटाकर कहानी, लेखन और निर्देशक पर केंद्रित करना चाहिए। बता दें कि जब आमिर खान की फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ का बायकॉट हुआ था तब भी विवेक अग्निहोत्री ने बायकॉट कल्चर पर एक बयान दिया था और कहा था कि आमिर खान की फिल्म ‘दंगल’ को भी बायकॉट का सामना करना पड़ा था, लेकिन यह फिल्म बड़ी हिट साबित हुई।

ये भी पढ़ें: ‘सत्यप्रेम की कथा’ के सेट पर कार्तिक आर्यन से मिलने पहुंचा स्पेशल मेहमान, एक्टर ने इंस्टा पर शेयर की तस्वीरेx

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *