Manish Sisodia Row: जहां एक ओर अमेरिका (America) के प्रसिद्ध अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स (New York Times) ने दिल्ली में शिक्षा को लेकर मनीष सिसोदिया की तस्वीर के साथ एक आर्टिकल प्रकाशित किया। वहीं दूसरी ओर शराब नीति (Excise Policy) को लेकर सीबीआई ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) के घर पर छापेमारी की।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने पेड न्यूज के आरोपों को किया खारिज
इसके बाद आम आदमी पार्टी (AAP) और बीजेपी (BJP) में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। बीजेपी नेता इस न्यूज को पेड न्यूज बता रहे हैं, वहीं अब इस मामले पर न्यूयॉर्क टाइम्स की तरफ से सफाई सामने आई है। अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स (The New York Times) ने दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था पर अपनी स्टोरी को निष्पक्ष और ग्राउंड रिपोर्टिंग पर आधारित बताया है। साथ ही पेड न्यूज के आरोपों को भी खारिज कर दिया है।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने कहा हमारी रिपोर्ट निष्पक्ष है
न्यूयॉर्क टाइम्स ने एनडीटीवी से बात करते हुए बताया कि दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था सुधार के प्रयासों के बारे में हमारी रिपोर्ट निष्पक्ष है और ग्राउंड रिपोर्टिंग पर आधारित है। शिक्षा व्यवस्था एक ऐसा मुद्दा है जिसे न्यूयॉर्क टाइम्स सालों से कवर करता आ रहा है। न्यूयॉर्क टाइम्स की पत्रकारिता हमेशा स्वतंत्र होती है, राजनीति या विज्ञापनदाता के प्रभाव से मुक्त होती है।

आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी
गौरतलब है कि न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी मनीष सिसोदिया की तस्वीर पर राजनीति गरमा गई है। आम आदमी पार्टी (AAP) और बीजेपी (BJP) आमने सामने हैं। एक तरफ आम आदमी पार्टी का कहना है कि न्यूयॉर्क टाइम्स (New York Times) में छपी खबर के बाद सीबीआई (CBI) की रेड हुई तो वहीं बीजेपी ने इसे पेड न्यूज (Paid News) बताया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *