Corona in China: चीन में कोरोना महामारी ने एक बार फिर अपना तांडव दिखाना शुरू कर दिया हैं। कोरोना संक्रमण के मामले बड़ी तेजी के साथ बढ़ रहें हैं। वहीं चीन में एक दिन में दोगुने से ज्यादा नए मामले दर्ज हुए हैं । इसी के साथ माना जा रहा हैं कि चीन में कोरोना संक्रमण की नई लहर शुरू हो चुकी है।

रिपोर्ट के मुताबिक़ चीन में मंगलवार को 5280 नए कोरोना केस मिले, जो देश में कोरोना महामारी के दिनों के बाद का सबसे तीव्र संक्रमण माना जा रहा है। डब्ल्यूएचओ (WHO ) ने दुनिया को चेताया है कि अब कोरोना की चौथी लहर आने की आशंका हैं जो ओमिक्रॉन और डेल्टा वैरिएंट से मिलकर बना नया वैरिएंट इसका कारण होगा।

बीते एक सप्ताह में शंघाई, बीजिंग समेत जिआंग्सु, ग्वांगडोंग, झेजियांग और शेडोंग प्रांतों में कोविड के नए मामले सामने आए हैं। नोमुरा ने एक नोट में कहा कि इससे चीनी अर्थव्यवस्था एक बार फिर गंभीर रूप से प्रभावित हो सकती है। दूसरी तरफ, डब्ल्यूएचओ ( WHO ) की वैज्ञानिक मारिया वान करखोव ने ट्वीट किया है कि दुनिया में ओमिक्रॉन और डेल्टा के मिश्रण से नया वैरिएंट विकसित हो रहा है जो चौथी लहर ला सकता है। मारिया ने वायरोलॉजिस्ट का ट्वीट रिट्वीट करते हुए लिखा हम इसे ट्रैक कर रहे हैं।

लगा 10 शहरों में लॉकडाउन

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) के अनुसार यह बीते दो साल में हुई एक दिन की सबसे ज्यादा बढ़ोतरी है। जिलिन प्रांत में सर्वाधिक 3000 नए संक्रमित मिले हैं। वहीं नई कोरोना लहर के कारण चीन के 10 शहरों में लॉकडाउन लगा दिया गया है। इनमें शेंजेन का टेक हब भी शामिल है, यहां की आबादी 1.70 करोड़ हैं। 3 करोड़ से ज्यादा लोगों को एक बार फिर घरों में कैद कर दिया गया है। नई लहर से सबसे ज्यादा जिलिन प्रांत पर असर हुआ है।

चीन के वुहान से 2019 में शुरू हुआ कोरोना संक्रमण एक बार फिर चीन को अपनी गिरफ्त में ले रहा है। 2021 में पूरे साल में चीन के भीतर 8,378 मामले दर्ज हुए थे जो इस साल अब तक 14,000 से ज्यादा हो गए हैं। सोमवार को एनएचसी ने कहा था कि देश में इस साल अब तक 2021 में दर्ज किए गए मामलों से भी ज्यादा केस दर्ज हो चुके हैं।

सपाट झूठ बोलने का समय नहीं, बेकाबू हो सकते हैं हालात

2020 में कोरोना महामारी के बाद से यह चीन के लिए सबसे कठिन समय है। कोविड-19 की तेजी से वापसी के बीच शीर्ष चीनी संक्रामक रोग विशेषज्ञ झांग वेनहोंग ने सोमवार को चीनी सोशल मीडिया प्लेटफार्म सिना वीबो पर एक पोस्ट में यह टिप्पणी करते हुए कहा कि यह वक्त चीन के लिए सपाट झूठ बोलने का नहीं है। हमें शून्य-कोविड नीति पर बहस करने के बजाय पूर्ण और टिकाऊ महामारी रणनीतियों को तुरंत लागू करना चाहिए। उन्होंने चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स से बात करते हुए कहा, यह वक्त तुरंत कार्रवाई करने का है अन्यथा हालात बेकाबू हो सकते हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *