Queen Elizabeth II Death Reactions: ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ लंबे समय से बीमार चल रही थीं। 96 साल की उम्र में महारानी एलिजाबेथ II ने आखिरी सांस ली। उनका निधन स्कॉटलैंड के Balmoral Castle में हुआ है। महारानी का नाम दुनिया की महान शख्सियतों में शुमार था। उनके निधन के बाद दुनियाभर के नेताओं ने उन्हें याद किया और श्रद्धांजलि दी। भारत के भी तमाम बड़े नेताओं ने क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर ट्वीट कर शोक व्यक्त किया। जिसमें प्रधानमंत्री मोदी, राहुल गांधी और ममता बनर्जी जैसे नेता शामिल हैं।

पीएम मोदी ने ऐसे किया याद
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर दुख जताया। पीएम मोदी ने उनके साथ मुलाकात की तस्वीरों को शेयर करते हुए उन्हें याद किया है। पीएम बनने के बाद पहली बार 2015 में नरेंद्र मोदी ब्रिटेन गए थे, इसके बाद 2018 में भी उनका ब्रिटेन दौरा था। जहां उनकी क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय के साथ मुलाकात हुई। पीएम मोदी ने उनके निधन पर लिखा कि, मैं उनकी उदारता और गर्मजोशी को भूल नहीं सकता हूं। इस दौरान क्वीन ने मुझे वो रुमाल भी दिखाया जो महात्मा गांधी ने उन्हें उनकी शादी पर दिया था। पीएम मोदी ने आगे लिखा कि, इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं ब्रिटेन के लोगों के साथ हैं।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भी जताया दुख
राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद उन्हें लेकर ट्वीट किया। भारतीय राष्ट्रपति ने कहा कि, “दुनिया ने आज एक महान शख्सियत को खो दिया। उन्होंने सात दशक तक अपने देश के लोगों के लिए काम किया। मैं ब्रिटेन के लोगों और महारानी के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करती हूं।”

राहुल गांधी ने भी किया ट्वीट
पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और मौजूदा सांसद राहुल गांधी ने भी क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय को याद किया। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर ब्रिटेन के लोगों और शाही परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं। उनका एक लंबा और गौरवशाली शासन था, उन्होंने काफी प्रतिबद्धता और सम्मान के साथ अपने देश की सेवा की।

ममता बनर्जी ने कहा- ये एक युग का अंत
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय को याद किया। उन्होंने लिखा कि, मैं महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर ब्रिटिश शाही परिवार और यूनाइटेड किंगडम के लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करती हूं। ये एक युग का अंत है, जब सबसे लंबे समय तक शासन करने वाली ब्रिटिश सम्राट अपनी अंतिम यात्रा के लिए प्रस्थान करेंगीं।

10 दिन बाद होगा अंतिम संस्कार
महारानी का अंतिम संस्कार उनके निधन के 10 दिन बाद होगा। इससे पहले, उनके ताबूत को लंदन से बकिंघम पैलेस से वेस्टमिंस्टर के पैलेस तक निधन के पांच दिन बाद औपचारिक मार्ग से ले जाया जाएगा, जहां रानी तीन दिनों के लिए राज्य में लेटी रहेंगी। इस दौरान लोग उनके अंतिम दर्शन कर सकेंगे, यह स्थल प्रतिदिन 23 घंटे तक खुला रहेगा। अंतिम संस्कार का दिन राष्ट्रीय शोक का दिन होगा, जिसमें वेस्टमिंस्टर एब्बे में होने वाली सेवा और पूरे ब्रिटेन में दोपहर में दो मिनट का मौन रखा जाएगा। अंतिम संस्कार के बाद रानी को विंडसर कैसल के किंग जॉर्ज षष्ठम मेमोरियल चैपल में दफनाया जाएगा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *