एंटरटेनमेंट जगत का विवादों से गहरा नाता हैं। अब ऐसा ही एक विवाद बॉलीवुड और साउथ फिल्म इंडस्ट्री ( Bollywood VS South Cinema ) में चल रहा हैं। अजय देवगन और किच्चा सुदीप की बहस से शुरू हुआ ये मुद्दा गर्माता जा रहा है। हर दिन इस विषय पर किसी न किसी के रिएक्शन आते रहते हैं। कई बॉलीवुड सेलिब्रिटीज और साउथ के अभिनेता इस बारे में अपने विचार रख चुके हैं।

 ये भी पढ़ें: Ranveer Singh on Hindi debate: साउथ फिल्मों की सफलता पर आया रणवीर सिंह का बयान, कहा- अपना ही है, मुझे गर्व है

इसी क्रम में अब दक्षिण के अभिनेता सिद्धार्थ सूर्यानारायणन ( South Actor Siddharth Suryanarayan ) ने भी बॉलीवुड पर करारा तंज कसा है। अभिनेता ने कहा- हिंदी फिल्मों में दक्षिण के अभिनेता को या तो नारियल पानी बेचते हुए या फिर टूटी-फूटी हिंदी बोलते हुए दिखाया जाता है। जिसे देखने के बाद लोग हंसते थे।

ये भी पढ़ें: Rakhi Sawant New Boyfriend: राखी सावंत को मिला नया बॉयफ्रेंड, क्या बिग बॉस के नए सीजन में होगी Entry?…

“तो सोशल मीडिया पर मीम बन जाएंगे”-सिद्धार्थ
अभिनेता का कहना है कि बॉलीवुड की फिल्मों में साउथ का हमेशा मजाक उड़ाया जाता है। ( Actor Siddharth Suryanarayan News )उन्होंने कहा कि हिंदी फिल्मों में नॉन हिंदी अभिनेता को कार्टून की तरह दिखाया जाता है। उन्होंने कहा- अगर आज मैं ऐसा कुछ किसी कन्नड़ या कश्मीरी किरदार के रूप में करूं तो सोशल मीडिया पर मीम बन जाएंगे, मेरा मजाक बनने लगेगा।

ये भी पढ़ें: भोपा स्वामी ‘आश्रम 3’ में फिर देंगे बाबा निराला का साथ, नए स्तर के प्रदर्शन के लिए तैयार

ये भी पढ़ें: पूजा हेगड़े ने शुरु की ‘कभी ईद कभी दिवाली’ की शूटिंग, सलमान खान का लकी ‘ब्रेसलेट’ पहने आई नज़र

रंग दे बसंती जैसी सुपरहिट फिल्म में आ चुके हैं नजर-
अभिनेता ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा- कॉमेडियन महमूद अली के जमाने से लेकर अब तक कई अभिनेताओं को हिंदी फिल्मों में अजीबोगरीब लुक में दिखाया जाता है। ये किरदार रियलिटी से एकदम अलग होते हैं, जो उस समय काफी पॉपुलर थे, लेकिन अब उन्हें देखकर अजीब लगता है। अभिनेता सिद्धार्थ रंग दे बसंती, चश्मेबद्दूर, द हाउस नेक्स्ट डोर और स्ट्राइकर जैसी फिल्मों में नजर आ चुके हैं।

ये भी पढ़ें: Cannes 2022: दीपिका पादुकोण का फर्स्ट लुक आउट, शॉर्ट शिमरी ड्रेस में लगीं गॉर्जियस

“साउथ के अभिनेता को कार्टून की तरह दिखाया जाता था”- सिद्धार्थ
सिद्धार्थ ने आगे कहा- एक फिल्म में मिथुन चक्रवर्ती को कृष्णन अय्यर बनकर नारियल पानी बेचते हुए दिखाया गया है…तो ये अजीब लगता है। उन दिनों हिंदी फिल्मों में साउथ के अभिनेता को कार्टून की तरह दिखाया जाता था, जैसे कि वह सिर्फ हंसाने के लिए हों। उन दिनों एंटरटेनमेंट के नाम पर खूब आजादी लेकर कुछ भी बना दिया जाता था, लेकिन साउथ के लोग ऐसे नहीं बोलते।

ये भी पढ़ें: प्लास्टिक सर्जरी के दौरान हुई अभिनेत्री की मौत, पुलिस ने अस्पताल के खिलाफ दर्ज की FIR

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *