Bank Fraud News: ABG शिपयार्ड लिमिटेड (ABG Shipyard Limited) और उसके तत्कालीन चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर एवं मैनेजिंग डायरेक्टर ऋषि कमलेश अग्रवाल और अन्य के खिलाफ CBI ने बैंक से साथ घोटाला करने का आरोप में मामला दर्ज किया है।

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की अगुवाई वाले 28 बैंकों के कंसोर्टियम के साथ कथित तौर पर 22,842 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी को लेकर यह FIR दर्ज कराई गई है। CBI द्वारा दर्ज किया गया यह बैकिंग घोटाला अब तक के सबसे बड़े मामलों में से एक है।

बता दें कि FIR में कहा गया है कि बैंकों ने जिन उद्देश्यों के लिए फंड रिलीज़ किए, उसकी बजाय उनका उनका इस्तेमाल किसी और काम के लिए किया गया।

कंपनी ने 28 बैंकों और वित्तीय संस्थाओं से क्रेडिट लिए हैं और SBI का करीब 2,468.51 करोड़ रुपये का एक्सपोजर है। फॉरेंसिंग ऑडिट में यह बात सामने आई है कि 2012-17 के बीच में आरोपियों ने आपस में साठगांठ कर फंड को डाइवर्ट करने, अनियमितता और आपराधिक विश्वास हनन जैसी अवैध गतिविधियां कीं।

आपको बता दें कि बैंक ने 8 नवंबर, 2019 को पहली बार शिकायत दर्ज कराई थी। इस पर CBI ने 12 मार्च, 2020 को कुछ स्पष्टीकरण मांगे थे। इसके बाद बैंक ने उस साल अगस्त में एक बार नए सिरे से शिकायत दर्ज कराई। करीब डेढ़ साल तक छानबीन करने के बाद CBI ने शिकायत पर कार्रवाई करते हुए सात फरवरी, 2022 को शिकायत दर्ज कराई।

ABG शिपयार्ड लिमिटेड प्राइवेट सेक्टर की Ship Building कंपनी है। कंपनी बल्क कैरियर्स, Deck Barges, Interceptor, Boats, Anchor Handling Supply Ships, Tugs और ऑफशोर वेसेल्स का निर्माण करती है। कंपनी भारत में कॉमर्शियल और सरकारी कस्टमर्स को सर्व करती है। इस कंपनी के शिपयार्ड गुजरात के दहेज और सूरत में स्थित हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *