भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार (8 April 2022) को कार्ड धोखाधड़ी पर अंकुश लगाने के लिए एक बड़ा ऐलान किया है। इसके तहत रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों को एटीएम (ATM) से बिना कार्ड (कार्डलेस) के नकदी निकासी की सुविधा (Cardless ATM Withdrawal) शुरू करने की अनुमति देने का फैसला किया है। वर्तमान में देश के कुछ ही बैंकों द्वारा एटीएम के माध्यम से कार्ड-रहित नकदी निकासी की सुविधा दी जा रही है। यह सुविधा भी ग्राहकों को तभी मिलती है, जब वह समान बैंक के एटीएम का इस्तेमाल करते हैं।

ये भी पढ़ें:  IPL 2022 TV Ratings: IPL की दिवानगी हुई कम, फैंस ने BCCI को दिया बड़ा झटका

ATM से कार्ड-रहित नकद निकासी सुविधा का प्रस्ताव
भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikant Das) ने द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा की घोषणा करते हुए कहा, ‘‘अब UPI का उपयोग करते हुए सभी बैंकों और एटीएम नेटवर्क में कार्ड-रहित नकद निकासी सुविधा उपलब्ध कराने का प्रस्ताव है। इसके उपयोग से लेनदेन करने में आसानी होगी। इसके साथ ही बिना कार्ड के नकदी निकासी की सुविधा से कार्ड स्किमिंग, कार्ड क्लोनिंग जैसी धोखाधड़ी को भी रोकने में मदद मिलेगी।”

ये भी पढ़ें:  Nokia ने करीब सबसे कम कीमत में लॉन्च किया नया स्मार्टफोन, जानें फीचर्स और कीमत

एनपीसीआई, एटीएम नेटवर्क और बैंकों को मिलेंगे जल्द निर्देश
इस बारे में एनपीसीआई, एटीएम नेटवर्क और बैंकों को जल्द ही अलग-अलग निर्देश जारी किए जाएंगे। विकास और नियामक नीतियों पर एक वक्तव्य में कहा गया है कि एकीकृत भुगतान इंटरफेस (UPI) के उपयोग से ग्राहकों की पहचान की जाएगी जबकि जबकि ऐसे लेनदेन का निपटान एटीएम नेटवर्क के माध्यम से होगा।

ये भी पढ़ें: CM योगी के ऑफिस का ट्विटर अकाउंट हुआ हैक, यूपी सरकार ने कहा- होगी सख्त कार्रवाई

वहीं भारत बिल भुगतान प्रणाली (BBPS) के संबंध में उन्होंने कहा, यह बिल भुगतान को अन्य उत्पादों या प्रणालियों के साथ काम करने के लिए ‘इंटरऑपरेबल’ मंच है। इसमें पिछले कुछ वर्षों में बिलों का भुगतान करने वालों की संख्या में उल्लेखनीय बढ़ोतरी हुई है।

ये भी पढ़ें: पहली नज़र में आपको इस तस्वीर में क्या दिखा? 90 प्रतिशत लोगों ने दिया गलत जवाब

ये भी पढ़ें:  Priyanka Chopra ने यूक्रेन के शरणार्थियों के लिए मांगी मदद, देखें वायरल वीडियो

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *