Ankita Murder Case: उत्तराखंड के पौड़ी जिले के यमकेश्वर (Yamkeshwar) इलाके से लापता हुई अंकिता भंडारी (Ankita Bhandari) का शव आज सुबह पुलिस ने चीला नहर से बरामद किया, जिसके बाद शव को ऋषिकेश के एम्स अस्पताल भेज दिया गया। वहीं एम्स के बाहर लोगों का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है।

यमकेश्वर की विधायक रेणु बिष्ट की तोड़ी गाड़ी
इसी बीच यमकेश्वर की विधायक रेणु बिष्ट (Renu Bisht) भी अस्पताल पहुंचीं तो उन्हें भी गुस्साए लोगों के गुस्से का शिकार होना पड़ा। वहां गुस्साए लोगों ने विधायक की गाड़ी पर हमला करके उसे तोड़ दिया। बता दें कि अंकिता की मौत को लेकर लोगों में काफी गुस्सा नज़र आ रहा है।

बीजेपी रिपोर्ट के साथ कर सकती है छेड़-छाड़
लोगों का कहना है कि, इस मामले में राजनीति बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसलिए अस्पताल में आ रहे बीजेपी नेता और विधायक को लोग वहां से भगाते हुए नजर आ रहे हैं। उनका कहना है कि इस मामले में बीजेपी के नेता का बेटा गिरफ्तार हुआ है। इसलिए बीजेपी रिपोर्ट के साथ छेड़छाड़ कर सकती है। लोगों ने कहा कि पहले इस मामले में कोई सामने नहीं आया और अब जब अंकिता का शव मिला है तो नेता राजनीति चमकाने में लगे हुए हैं।

पुलिस ने लोगों से की शांत रहने की अपील
वहीं पुलिस ने विरोध कर रहे लोगों से पोस्टमार्टम हाउस के बाहर विरोध नहीं करने की अपील की है। साथ ही उनको आश्वसन भी दिलवाया है कि अब किसी भी नेता को अंदर नहीं जाने दिया जाएगा और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के साथ किसी भी तरह की कोई छेड़छाड़ नहीं होगी। वहीं जानकारी के अनुसार तीन बजे तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट सभी के सामने आ जाएगी।

गौरतलब है कि अंकिता भंडारी पांच दिन पहले यमकेश्वर इलाके में एक रिजॉर्ट से संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हुई थी, जिसका शव रविवार को नहर से बरामद हुआ है। वहीं इस मामले में पुलिस ने रिजॉर्ट के संचालक और पूर्व राज्यमंत्री के बेटे पुलकित आर्य और उसके दो मैनेजरों को गिरफ्तार कर लिया था। ये तीनों इस केस में आरोपी हैं।

ये भी पढ़ें:  Ankita Murder Case: अंकिता हत्याकांड की जांच करेगी SIT, पुष्कर सिंह धामी ने दिये निर्देश

Spread the love