यूक्रेन-रूस के बीच चल रहे युद्ध में अमेरिका के अगले कदम पर दुनिया की नज़र टिकी हुई हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अपना पहला स्टेट ऑफ द यूनियन (SOTU) संबोधन दिया है। बाइडेन ने साफ कर दिया है कि रूस जो भी कर रहा है, उसकी कीमत चुकानी पड़ेगी।

ये भी पढ़ें: यूक्रेन-रूस युद्ध: यूक्रेन में गोलीबारी की चपेट में आने से भारतीय छात्र की मौत

जो बाइडेन ने रूस को चेतावनी देते हुए कहा कि रूस ने दुनिया की नींव हिलाने की कोशिश की है। रूस को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। हम रूस पर आर्थिक प्रतिबंध लगा रहे हैं, सिर्फ अमेरिका ही नहीं बल्कि दुनिया के काफी देश यूक्रेन के साथ खड़े हैं”। इस दौरान बाइडेन ने घोषणा की है कि अमेरिका रूस के लिए अपना एयरस्पेस बंद कर रहा है।

बाइडेन ने घोषणा है कि अमेरिका यूक्रेन को एक बिलियन डॉलर की मदद देने जा रहा है। बाइडेन ने कहा, ”हम NATO देशों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम यूक्रेन की मदद के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं।” राष्ट्रपति बाइडन ने कहा कि रूस ने सोचा होगा कि हम यूक्रेन को रौंद देंगे लेकिन यूक्रेन के लोगों ने रूस को कड़ा जवाब दिया है। यूक्रेन के लोगों ने साहस दिखाया है। अमेरिका यूक्रेन के लोगों के साथ खड़ा है।

बाइडेन ने आगे कहा कि यूरोपियन यूनियन एक जुट है। हम यूक्रेन के लोगों पर गर्व करते हैं। अब तानाशाह को उसके किए की सजा देना बहुत ज़रूरी है।” उन्होंने कहा, ”पुतिन ने सोच समझकर यूक्रेन पर हमला किया है। अब आर्थिक प्रतिबंधों से रूस कमजोर होगा।”

हालांकि बाइडेन ने स्पष्ट कर दिया कि US की सेना यूक्रेन-रूस के युद्ध में शामिल नहीं होगी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *