पूरा विश्व पहले ही कोरोना ( COVID-19 ) से परेशान है। हर साल कोरोना अपना स्वरूप बदल-बदल कर लोगों को अपना शिकार बना रहा है और पूरी दुनिया में अपना आतंक फैला रहा है। इस साल फिर से कोरोना ( COVID-19 ) के मामलों ने रफ्तार पकड़ ली है और दिन-प्रतिदिन इसके मामले बढ़ रहे हैं। जिसके कारण गवर्नमेंट और लोग इससे बचने के लिए कड़े कदम उठा रहे हैं। लोगो कोरोना से बचने के लिए टीके ( Vaccine ) पर निर्भर है। अब वैक्सीन या टीके से संबंधित एक खबर आ रही है।

आपको बता दें एक रिपोर्ट के मुताबिक़ विश्व की अग्रणी दवा कंपनी ‘जॉनसन एंड जॉनसन’ ( ‘Johnson & Johnson’ ) के कोविड टीके ( ( Vaccine ) से खून के थक्के जमने की गंभीर जोखिम का पता चला है। इसे देखते हुए अमेरिकी दवा नियामक ने ‘जॉनसन एंड जॉनसन’ के कोविड-19 ( COVID-19 ) रोधी टीके के इस्तेमाल को लेकर कुछ प्रतिबंध लगा दिए हैं।

ये भी पढ़ें: MS Dhoni IPL 2022: कैप्टन धोनी ने बल्लेबाजों को ठहराया हार का जिम्मेदार, मैचे के बाद कही ये बात

अमेरिका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने कहा है कि अब ‘जॉनसन एंड जॉनसन’ के इस टीके की खुराक केवल उन्हीं वयस्कों को दी जा सकेगी, जो कोई दूसरी वैक्सीन नहीं ले सकते या फिर खासतौर से इसी कंपनी का टीका लगवाने का अनुरोध करते हैं।

अमेरिकी अधिकारी बीते कई महीनों से जॉनसन एंड जॉनसन के टीके नहीं लगवाने की सिफारिश कर रहे थे-
एफडीए के टीके से जुड़े मामलों के प्रमुख डॉ. पीटर मार्क्स ( Dr. Peter Marks ) ने बताया कि एजेंसी खून के थक्के जमने के जोखिम से संबंधित आंकड़ों पर एक बार फिर गौर करने के बाद इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि जेएंडजे की कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल सीमित किया जाना चाहिए। अमेरिकी अधिकारी बीते कई महीनों से सिफारिश कर रहे हैं कि अमेरिका के लोग जॉनसन एंड जॉनसन ( ( ‘Johnson & Johnson’ ) के टीके के बजाय फाइजर या माडर्ना की कोविड रोधी वैक्सीन ही लगवाएं।

ये भी पढ़ें: Corona In India: कोरोना ने फिर पकड़ी रफ्तार, 19 हजार के पार हुए एक्टिव मरीज

कोविड-19 से निपटने के लिए कई अन्य विकल्प भी है मौजूद- डॉ. पीटर मार्क्स
डॉ. पीटर मार्क्स ( Dr. Peter Marks ) के मुताबिक टीका ( Vaccine ) लगवाने के शुरुआती दो हफ्तों में खून के थक्के जमने की शिकायत उत्पन्न हो सकती है, ऐसे में अगर आपने छह महीने पहले टीका ( Vaccine ) लगवाया था तो आपके लिए चिंता की कोई बात नहीं है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से निपटने के लिए कई अन्य विकल्प भी मौजूद हैं, जो उतने ही प्रभावशाली हैं और लोगों को इनकी तरफ रुख करना चाहिए।

ये भी पढ़ें: सेना ने हाइड्रा वाहन के बीचों बीच फंसे बाइक सवार की बचाई जान, ब्रेक फेल होने से हुआ हादसा

एक खुराक वाला टीका है जॉनसन एंड जॉनसन –
शुरुआत में इस टीके ( Vaccine ) को वैश्विक महामारी से निपटने के एक महत्वपूर्ण हथियार के रूप में देखा जा रहा था, क्योंकि किसी को भी इसकी केवल एक ही खुराक लेने की जरूरत पड़ती है। आपको बता दें एफडीए ने फरवरी 2021 में 18 साल और उससे अधिक उम्र के वयस्कों में जेएंडजे के कोविड-19 रोधी टीके के आपात इस्तेमाल की मंजूरी दी थी। हालांकि, बाद में एकल खुराक का विकल्प फाइजर और मॉडर्ना के टीकों के मुकाबले कम प्रभावशाली साबित हुआ।

अमेरिका में 20 करोड़ लोगो को लगे टीके-
आंकड़ों के अनुसार, अमेरिका में 20 करोड़ से अधिक लोगों का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है। इन लोगों ने मॉडर्ना व फाइजर के टीके लगवाए हैं। वहीं, 1.7 लाख से कम लोगों को जेएंडजे की वैक्सीन ( Vaccine ) लगाई गई है। अमेरिका के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र ने दिसंबर 2021 में जेएंडजे के टीके से जुड़े सुरक्षा मुद्दों के कारण मॉडर्ना और फाइजर के टीकों को तरजीह देने की सिफारिश की थी।

ये भी पढ़ें: 2022 के टॉप मार्शल आर्टिस्ट में शामिल हुए विद्युत जामवाल, लगातार दो सालों से कायम है दबदबा

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *