श्रीलंका इस समय सबसे खराब आर्थिक संकट से जूझ रहा है। यहां महंगाई आसमान छू रही है। ऐसे में श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) ने सोमवार को अपने भाई और वित्त मंत्री बेसिल राजपक्षे को बर्खास्त करने के साथ ही नये वित्त मंत्री की नियुक्ति कर दी है। उनकी जगह अली साबरी को नए वित्त मंत्री रूप में नियुक्त किया गया है जो रविवार रात तक न्याय मंत्री थे।

दिनेश गुणावर्धने बने नये शिक्षा मंत्री
वहीं जी एल पेरिस को विदेश मंत्री जबकि दिनेश गुणावर्धने को नये शिक्षा मंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई। जॉन्सटन फर्नांडिस को नये राजमार्ग मंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई। इससे पहले पूर्व विदेश मंत्री बेसिल अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से राहत पैकेज हासिल करने के लिए अमेरिका जाने वाले थे। सत्तारूढ़ श्रीलंका पोडुजाना पेरामुना (SLPP) गठबंधन के भीतर नाराजगी का वह केंद्र थे।

जनता के आक्रोश के बाद की गई नई नियुक्तियां
इन नये मंत्रियों की नियुक्तियां राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे द्वारा सभी दलों को एकता सरकार में शामिल होने का न्योता दिये जाने के बाद हुई हैं। उन्होंने यह पेशकश द्वीप देश में चल रहे सबसे खराब आर्थिक संकट के कारण हो रही कठिनाई के खिलाफ लोगों के गुस्से से निपटने के लिए की है।

सेंट्रल बैंक के गवर्नर ने भी दिया था इस्तीफा
वहीं दूसरी ओर इन घटनाक्रम के बीच सेंट्रल बैंक के गवर्नर अजित निवार्ड काबराल ने भी अपने पद से इस्तीफा देने की घोषणा की है। काबराल ने कहा कि सभी कैबिनेट मंत्रियों के इस्तीफा देने के संदर्भ में मैंने गवर्नर के पद से आज इस्तीफा दे दिया है। उन पर अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) संरचनात्मक समायोजन सुविधा के जरिए श्रीलंका के आर्थिक राहत मांगने पर अड़ियल रुख अपनाने का आरोप लगाया गया था।

ये भी पढ़ें: 

दिल्ली सरकार ने शराब पर दी 25 प्रतिशत की छूट, गुरूग्राम के दुकानदारों की बढ़ाई मुश्किलें

उत्तराखंड की इस महिला ने राहुल गांधी के नाम की अपनी सारी संपत्ति, बताई ये बड़ी वजह

CUET 2022 Registration: 6 अप्रैल से शुरू होने जा रहे हैं CUET रजिस्‍ट्रेशन, ऐसे कर पाएंगे आवेदन

दही और अलसी आपका वजन करेगा कम, इस तरह से करें खाने में इस्तेमाल

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *