Agnipath Scheme: सेना में भर्ती की नई योजना ‘अग्निपथ’ को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। युवा सड़कों पर उतर ‘अग्निवीर’ की भर्ती को लेकर विरोध जाहिर कर रहे हैं तो वहीं अब गृह मंत्रालय ने इसे लेकर बड़ी घोषणा की है।

गृह मंत्रालय ने केंद्रीय आर्म्ड पुलिस फोर्स (CAPF) और असम राइफल्स की भर्ती में अग्निवीरों को 10 फीसदी आरक्षण देने का फैसला लिया है। गृह मंत्रालय ने इसकी जानकारी ट्विटर अकाउंट के जरिए दी है।

गृह मंत्रालय ने अग्निवीर के रूप में सेवा पूरी करने वालों के लिए अधिकतम आयु की सीमा में भी छूट की भी घोषणा कर दी गई है। गृह मंत्रालय के मुताबिक अग्निवीरों को अधिकतम आयु सीमा में तीन साल की छूट दी जाएगी। अग्निपथ योजना के तहत भर्ती अग्निवीरों के पहले बैच के लिए अधिकतम आयु की सीमा में पांच साल की छूट दी जाएगी।

गौरतलब है कि तीनों सेना में भर्ती के लिए केंद्र सरकार ने अग्निपथ योजना का ऐलान किया था। सेना में अग्निपथ योजना के तहत चार साल के लिए अग्निवीरों की भर्ती की जानी है। इस योजना का ऐलान किए जाने के बाद ही गृह मंत्री अमित शाह ने भी अग्निवीरों के लिए बड़ा ऐलान किया था।

बता दें कि अग्निवीरों को लेकर गृह मंत्रालय की ओर से ये घोषणा ऐसे समय पर की गई है, जब इसके खिलाफ देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं। अग्निपथ योजना के तहत चार साल के लिए अग्निवीरों की भर्ती होनी है। इनमें से 25 फीसदी अग्निवीरों को सेना के स्थायी काडर में भर्ती कर दिया जाएगा।

अग्निपथ योजना की बात करें, तो इसके मुताबिक चार साल की सेवा पूरी करने के बाद 75 फीसदी अग्निवीरों को सेवा निधि देकर सेवा से मुक्त कर दिया जाएगा। चार साल की सेवा के बाद अग्निवीर क्या करेंगे, ये योजना के ऐलान के दिन से ही बड़ा सवाल बना हुआ है। यूपी समेत कई राज्य भी भर्तियों में अग्निवीरों को प्राथमिकता देने का ऐलान कर चुके हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *